DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षक देश को एक बनाने का काम करता है: डा. जोशी

संसद की लोकलेखा समिति के अध्यक्ष एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता डा. मुरली मनोहर जोशी ने कहा है कि शिक्षक के लिए कक्षा में कोई अल्पसंख्यक पर बहुसंख्यक नहीं होता है।
       
उत्तर प्रदेश के वाराणसी में मुस्लिम एकेडमी द्वारा आयोजित राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त प्रवकता नजमुद्दीन सिद्दकी सम्मान समारोह में बोलते हुए डा. जोशी ने कहा कि शिक्षक देश को बनाने का काम करता है।  
      
उन्होंने कहा कि जिस अध्यापक का सम्मान किया जा रहा है और वह जिस कौम से जुडे हैं उनके लिए अल्पसंख्यक एवं बहुसंख्यक समान हैं सबको एक नजर से देखते हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षक देश को बनाने और जोड़ने का काम करता है।
       
वाराणसी से लोकसभा के सांसद डा. जोशी ने कहा कि अल्पसंख्यक एवं बहुसंख्यक शव्द देश के दुश्मनों की देन है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक लाभ लेने वाले एवं विघटनकारी तत्व धर्म, सम्प्रदाय एवं जाति की बात करते हैं। इसके पीछे कहीं न कहीं लाभ लेने वाली होशियारी छिपी होती है।
       
डा. जोशी ने कहा कि सभी धमोट्व की पूजा पद्धति अलग अलग है लेकिन सबका उद्देश्य एक है। उन्होंने कहा कि सभी को एक दूसरे के धर्म का सम्मान करना चाहिए। कोई मजहब आपस में लडना नहीं सिखाता। सभी धर्म में अच्छे संस्कार दिये जाते हैं। उन्होंने कहा कि  सृष्टि को धर्म के अनुसार चलाया जाये तो कहीं कोई समस्या ही नहीं होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शिक्षक देश को एक बनाने का काम करता है: जोशी