DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीक आवर में फिर बिजली कटौती

दिन भर 50 मेगावाट , शाम में ढाई घंटे तक 30 मेगावाट आपूिर्त कैश काउंटर पर काम संभाला िनजी कंपनी के कर्मचािरयों ने भागलपुर। कार्यालय संवाददाता बीईडीसीपीएल के काम संभालने के बाद आपूिर्त में तो सुधार हुआ है लेकिन तीसरे ही दिन सीएलडी ने पीक आवर में भागलपुर की बिजली कटौती भी शुरू कर दी है। शुक्रवार को पूरे दिन जहां 50 मेगावाट बिजली दी गई, वहीं शाम 7.30 बजे से रात के 10 बजे तक मात्र 30 मेगावाट बिजली मिली।

इस दौरान ढाई घंटे तक भागलपुर-1 फीडर की बिजली गुल रही। इससे नाथनगर, जगदीशपुर, हबीबपुर, विश्वविद्यालय क्षेत्र सहित दिक्षणी इलाके में बिजली नहीं मिली। रात के 10 बजे फिर सीएलडी से आपूिर्त बढ़ाकर 50 मेगावाट की गई। पीक आवर में अपेक्षाकृत अधिक बिजली की आवश्यकता होती है। इस दौरान शहर के सभी सबस्टेशनों पर लोड अधिक होता है। सीएलडी से अक्सर पीक आवर में ही बिजली की कटौती होती रही है। िनजी कंपनी के काम संभालने के बाद शुक्रवार को पहली बार पीक आवर में बिजली की कटौती की गई।

इस बारे में बीईडीसीपीएल के अधिकारियों से कारण जानने का प्रयास किया गया, लेकिन भागलुपर में तैनात अधिकारी वरीय अधिकारियों से संपर्क कर आपूिर्त बढ़ाने की बात करते रहे। इधर, शुक्रवार से बीईडीसीपीएल के कर्मचािरयों ने कैश काउंटर भी संभालना शुरू कर दिया है। सभी बिजली सब िडविजनों में िनजी कंपनी के कर्मचारी तैनात कर दिए गए हैं। कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि पहले एक से दो सप्ताह के अंदर पहले उपभोक्ताओं की आवश्यकता वाली चीजों पर फोकस किया जा रहा है।

इसलिए पहले मेंटेनेंस, कॉल सेंटर और सबस्टेशन में कर्मचारी तैनात किए गए। अब धीरे-धीरे कैश काउंटर और मीटर रीिडंग एवं बििलंग के लिए भी काम प्रारंभ किया जाएगा। कॉल सेंटर में शुक्रवार को फेज कटने या अन्य छोटी-मोटी खराबी के अलावा कोई बड़ी खराबी की शिकायत नहीं मिली है। बिजली िनजीकरण के खिलाफ बैठक भागलपुर। कार्यालय संवाददाता बिजली बोर्ड के िनजीकरण व फ्रेंचाइजी एवं बिजली दरों में प्रस्तावित वृिद्ध के खिलाफ एटक द्वारा जन कार्यवाही की योजना के लिए शुक्रवार को बैठक की गई।

बैठक में 5 से 8 जनवरी के बीच नाथनगर क्षेत्र में हस्ताक्षर अिभयान आमसभा व मोहल्ला बैठक आयोजित करने का निर्णय लिया गया। नौ से 11 जनवरी को मुख्य बाजार में जनसंपर्क एवं हस्ताक्षर अिभयान चलेगा। 31 जनवरी को डीएम कार्यालय के सामने प्रदर्शन हस्ताक्षर की कापी सहित मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया जाएगा। बैठक में एक्टू के राज्य सचिव मुकेश मुक्त, बीएमएस केजिंला मंत्री राजेश कुमार लाल, ऐटकजिंला उपाध्यक्ष उदयकांत झा, बिहार इलेक्ट्रीक सप्लाई वर्कर्स युिनयन के राज्य सचिव शशि भूषण प्रसाद सिंह आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीक आवर में फिर बिजली कटौती