DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैनेजमेंट के छात्रों को नहीं मिल रही अच्छी शिक्षा

पटना। हिन्दुस्तान प्रतिनिधि। आज भले ही देश में सैकड़ो बिजनेस स्कूल खुल गए हैं, लेकिन उनमें अच्छी शिक्षा नहीं दी जा रही है। किसी कंपनी के बेहतर प्रबंधन के लिए जैसे लोग चाहिए, वो नहीं मिल रहे हैं। बदलते हुए परविेश में बिजनेस स्कूल प्रबंधन और छात्रों को बेहतर शिक्षा के बारे में सोचना चाहिए। ये बातें प्रख्यात प्रबंधन सलाहकार सुमित चौधरी ने कहीं। मौका था पूर्व रेलमंत्री स्व ललित नारायण मिश्र की 39वीं पुण्यतिथि पर ललित नारायण मिश्रा आर्थिक विकास एवं सामाजिक परविर्तन संस्थान में आयोजित बलिदान दिवस का।

उन्होंने कहा कि बेहतर प्रबंधन का अर्थ कंपनी को मुनाफा दिलाना है। मगध विवि के पूर्व कुलपति डॉ शमशाद हुसैन ने कहा कि पुराने बिजनेस स्कूल के छात्रों का बिजनेस प्रबंधन स्किल काफी कमजोर होता है। आज हर चौक-चौराहे पर मैनेजमेंट स्कूल खुल रहे हैं, लेकिन वो सिर्फ डिग्री देने के लिए ही होते हैं। मेरा मानना है कि प्रबंधन तभी बेहतर हो सकता है जब हम में दूसरों को समझाने की क्षमता हो। दूसरों को अपनी बात आसानी से समझा लेना ही बेहतर प्रबंधन है।

कार्यक्रम की अध्यक्ष्ता कामेश्वर मिश्र ने की। वहीं धन्यवाद ज्ञापन प्रो सुधीर कुमार ने किया। कार्यक्रम में शिक्षकों के अलावा दर्जनों छात्र उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैनेजमेंट के छात्रों को नहीं मिल रही अच्छी शिक्षा