DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गिर रहा अधिकतम पारा, बढ़ी रही दिन में ठंड

गया। निज प्रतिनिधि। नीले गगन में बादलों के आशंकि रूप से छाए रहने और पछुआ की गति बढ़ने से दिन में सर्दी ज्यादा सता रही है। पिछले एक हफ्ते से अधिकतम पारा लगातार लुढ़क रहा है। बादल के आंशिक रूप से छाए रहने के कारण दिन में धूप की गर्मी का अहसास लोगों का नहीं हो पा रहा है।

पछुआ भी सूर्य की तिपश को कम कर दे रही है। दो-चार दिनों से बढ़ी ठंड ने आम जनजीवन की परेशानी थोड़ी बढ़ा दी है। हालांकि न्यूनतम पारा के सामान्य से ऊपर रहने के कारण रात में ठंड का ज्यादा अहसास नहीं हो पा रहा है। मौसम विभाग के रिकार्ड पर गौर करें तो 27 दिसंबर से अधिकतम पारे के गिरने का सिलसिला जो शुरू हुआ वह अब तक जारी है और न्यूनतम पारे का चढ़ना भी बरकरार है। 27 दिसंबर को अधिकतम 25.8 डिग्री और न्यूनतम तापमान 7.7 डिग्री सेल्सियस था जो पिछले साल के मुकाबले ज्यादा है।

अधिकतम तापमान गिरते-गिरते शुक्रवार को 22.9 डिग्री पहुंचा गया और न्यूनतम तापमान 12.2 डिग्री पहुंच गया। इस वजह से दिन में ठंड बढ़ रही है और रात में सर्दी का असर कम है। मौसम विभाग के निदेशक (पटना) आशीष कुमार सेन की मानें तो पिछले दो सालों के मुकाबले इस वर्ष कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना कम है। उन्होंने कहा कि इस साल बंगाली की खाड़ी में चार तूफान आने के कारण वायुमंडल में नमी का असर काफी दिनों तक रहा।

नमी का असर ज्यादा रहने के कारण भी कड़ाके की ठंड नहीं सता रही है। श्री सेन ने कहा कि अगले दो दिनों तक मौसम का मिजाज कुछ इसी तरह का रहने का अनुमान है। बादल और पछुआ के कारण दिन के तामपान में गिरावट आ सकती है लेकिन न्यूनतम पारा सामान्य से ऊपर ही रहेगा। उन्होंने कहा कि यहां बारिश होने की संभावना तो नहीं दिख रही है लेकिन 5 जनवरी को बादल छाए रहेंगे जिंससे लोगों को ठंड का अहसास ज्यादा होगा।

मालूम हो कि पिछले जनवरी माह में ठंड ने कहर बरपाया था। 9 जनवरी 2013 को न्यूनतम पारा 1.4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था और पूरे सूबे में गयाजिंला सबसे ठंडा रहा था। लेकिन इस बार न्यूनतम पारा अभी तक 7 डिग्री से नीचे नहीं आ पाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गिर रहा अधिकतम पारा, बढ़ी रही दिन में ठंड