DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीपीएससी का मोडरेशन आधारित रिजल्ट वैध

पटना (वि.सं.)। मोडरेशन पद्धति के आधार पर बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) द्वारा 53वीं से 55वीं परीक्षा का निकाले गये रिजल्ट को पटना हाईकोर्ट ने वैध ठहराते हुए सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया। स्केलिंग के आधार पर परीक्षाफल प्रकाशित करने की मांग को लेकर छात्र ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रेखा एम दोशित तथा न्यायमूर्ति अश्वनी कुमार सिंह की खंडपीठ ने प्रेम कुमार भक्त एवं अन्य की ओर से दायर अर्जी पर सुनवाई के बाद फैसला सुनाया।

विदित है कि न्यायमूर्ति डॉ. रविरंजन की एकलपीठ ने परीक्षाफल किस पद्धति से निकाला जाए इस बात को लेकर सभी मामले को खंडपीठ के हवाले करने का आदेश दिया था। जिस पर मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने सुनवाई की।

आयोग का कहना था कि संघ लोक सेवा आयोग सहित कर्नाटक व महाराष्ट्र राज्य लोक सेवा आयोग मोडरेशन के आधार पर परीक्षाफल प्रकाशित करती है। उसी प्रकार बीपीएसी मोडरेशन के आधार पर रिजल्ट निकाला है। वहीं आवेदकों की ओर से कहा गया कि स्केलिंग के आधार पर रिजल्ट निकाले जाने से छात्रों को काफी राहत मिलेगा और किसी को कोई शिकायत नहीं होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीपीएससी का मोडरेशन आधारित रिजल्ट वैध