DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अस्पसंख्यकों के विकास के लिए सरकार कर रही आर्थिक मदद

एकंगरसराय (नि.सं.)। इस्लामपुर विधायक राजीव रंजन ने एकंगरसराय के नवीगंज मोहल्ले में अल्पसंख्यकों द्वारा आयोजित स्वागत समारोह में कहा कि नीतीश जी अल्पसंख्यक समाज के लिए बहुत बड़ी कुर्बानी दी है, जिसका अहसास अल्पसंख्यक समाज को है।

सात साल पुराने गठबंधन को उन्होंने इसी कारण तोड़ दिया। छह माह पहले तक नीतीश कुमार की सरकार को 85 प्रतिशत एमएलए का समर्थन था जो अब घटकर 48 प्रतिशत हो गया। नीतीश कुमार अल्पसंख्यक समाज के किसी विरोधी को राजनीति करने नहीं देंगे।

अल्पसंख्यक के नाम पर दूसरी पार्टियां राज कर रही है, उसे दूर रखना चाहते हैं। श्री रंजन ने कहा कि अल्पसंख्यक समाज के विकास के लिए बिहार सरकार 12 नयी योजनाएं चला रही हैं, ताकि उनका सार्वजनिक विकास हो सके। यह सर्वविदित है कि अल्पसंख्यक लोग मेहनती, ईमानदार व देशभक्त हैं।

जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आता है, सारी पार्टियां अल्पसंख्यक के लिए विकास की बात करने लगेगी, जबकि कई पार्टियां उनके भावनाओं से खेलकर वोट हथिया ली है। अल्पसंख्यक समाज को 15 साल तक लालू प्रसाद ने ठगने का काम किया।

चार साल में विकास के लिए जो पैसे आए खर्च नहीं हो सके। वर्ष 2000 से 2005 चार साल में 13 करोड़ 38 लाख रुपये खर्च हुए, यानी प्रतिर्ष तीन करोड़ 37 लाख। 2012-13 में अल्पसंख्यक समाज के लिए 155 करोड़ रुपये विकास के नाम पर खर्च किये गये हैं।

जो जंगल राज के चार साल के खर्च से 12 गुणा ज्यादा है। श्री रंजन ने कहा कि बिहार के विकास पुरुष नीतीश कुमार 2014-15 की योजनाओं में अल्पसंख्यकों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चलायी हैं, जिससे समाज को सर्वागीण विकास होगा।

श्री रंजन ने कहा कि मुख्यमंत्री अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए आर्थिक मदद भी कर रहे हैं। उन्होंने अल्पसंख्यक निदेशालय की स्थापना भी करायी है। इस मौके पर राजीव प्रसाद सिंह, विनय सिंह, मो. तनवीर आलम, मो. इरफान, मो. मुस्तकीम, मो. अरमान, प्रमुख मनोरमा देवी, राकेश कुमार, गुडु कुमार, अनुज कुमार, मुन्ना यादव सहित बड़ी संख्या में नवीगंज की जनता ने नये वर्ष की शुभकामनाएं देते हुए विधायक श्री रंजन को फूल मालाओं से लाद दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अस्पसंख्यकों के विकास के लिए सरकार कर रही आर्थिक मदद