DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली बिल में गड़बड़ी के खिलाफ सड़क पर ‘आप’

मुजफ्फरपुर। कार्यालय संवाददाता। हजारों बिजली उपभोक्ताओं को औसत तीन सौ यूनिट का बिल दिये जाने के खिलाफ आम आदमी पार्टी ने आंदोलन शुरू कर दिया है। शुक्रवार को ‘आप’ के कार्यकर्ताओं ने पावर हाउस चौक स्थित एस्सेल कार्यालय के सामने धरना दिया। कार्यकर्ताओं ने एस्सेल व सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

सबने बढ़े बिजली बिल को वापस लेने व उसे दुरुस्त करने की मांग की। एस्सेल के बिजनेस हेड संजीव सिन्हा से लिखित आश्वासन मिलने के बाद कार्यकर्ता मान गये। लेकिन सुधार के लिए सप्ताह भर का अल्टीमेटम दिया। धरने को संबोधित करते हुए ‘आप’ के उत्तर बिहार संयोजक शत्रुघ्न साहू ने कहा कि एस्सेल व सरकार बिजली उपभोक्ताओं के साथ धोखा कर रही है। राजस्व में वृद्धि के लिए उपभोक्ताओं को बढ़ाकर बिल देना बिहार इलेक्ट्रिसिटी रेग्यूलेटरी कमीशन के प्रावधान का उल्लंघन है, लेकिन सरकार एस्सेल की इस करनी पर चुप बैठी है।

गरीब उपभोक्ताओं को परेशान करने के लिए एस्सेल ने एक साथ औसत तीन-तीन सौ यूनिट का बिल भेज दिया है। ‘आप’ की संयोजक प्रो. रंभा सिन्हा ने धरने की अध्यक्षता करते हुए कहा कि एस्सेल को आम आदमी का खून चूसने की इजाजत नहीं दी जाएगी। इसके खिलाफ व्यापक आंदोलन किया जाएगा। धरने को सह संयोजक कुमार नीरज, सचवि ई. उपेंद्र, कोषाध्यक्ष सीपी सिंह ने भी संबोधित किया। मौके पर प्रवक्ता हेमनारायण वशि्वकर्मा, आनंद पटेल, सतीश पाठक, वीरेंद्र राय, प्रतिमा सिन्हा, डॉ. बीके प्रलयंकर, संतोष कुमार, डॉ. लक्ष्मी कुमार, सुधीर सिंह, शाहीद कमाल, प्रो. डीपी राय, प्रो. प्रमोद कुमार, शम्स तवरेज व मो. जाफर समेत दर्जनों लोग उपस्थित थे।

यह है मामला नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी से 70 हजार बिजली उपभोक्ताओं की मीटर रीडिंग शून्य मिलने के बाद एस्सेल कंपनी ने हजारों उपभोक्ताओं को औसत तीन सौ यूनिट का बिल भेज दिया है। खपत से कई गुना अधिक बिजली बिल मिलने के कारण उपभोक्ता बिल नहीं चुका रहे हैं और बिल सुधरवाने के लिए वह एस्सेल कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं। इसके अलावा हजारों उपभोक्ताओं को पिछले दो माह से बिजली बिल ही नहीं मिला है जिसके कारण वह बिल नहीं चुका रहे हैं।

चारों तरफ से मिली शिकायत के बाद आम आदमी पार्टी ने इस मामले में दखल देते हुए शुक्रवार को एस्सेल कार्यालय के सामने धरना दिया और अधिकारियों से लिखित समझौते के बाद बिल सुधारने के लिए एक सप्ताह का समय दिया है। ‘आप’ की मांग-उपभोक्ताओं को दी गई औसत तीन सौ यूनिट के बिल को वापस लिया जाये-प्रत्येक उपभोक्ता की मीटर रीडिंग सुनशि्चित करायी जाये-खराब मीटरों को यथाशीघ्र बदलवाया जाये -पूर्व में बिल जाम होने के बाद अगले बिल में राशि जमा नहीं हो रही, इसे दुरुस्त किया जाये-बिजली आपूर्ति में लम्बे व्यवधान की पूर्व सूचना उपभोक्ताओं को दी जाये-जहां मीटर नहीं है वहां प्रावधान के अनुसार 40 से 60 यूनिट का ही बिल दिया जाये-शहरी क्षेत्र में वार्डवार माह में दो बार शिविर लगाकर उपभोक्ता की शिकायत सुनी जाये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिजली बिल में गड़बड़ी के खिलाफ सड़क पर ‘आप’