DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पशु वधशाला के विरोध सांकेतिक आमरण अनशन

फरीदाबाद। कार्यालय संवाददाता

पशु वधशाला के प्रस्ताव के विरोध में शुक्रवार को धार्मिक, सामाजिक और हिंदुवादी संगठनों ने सेक्टर-12 स्थित लघु सचविालय के सामने विरोध प्रदर्शन किया। धरना-स्थल पर गौसेवक संतगोपाल दास ने तीन दिन का सांकेतिक आमरण अनशन शुरू किया। संतगोपाल दास ने चेतावनी दी कि वह फरीदाबाद से तभी बाहर निकलेंगे जब यह प्रस्ताव रद्द या वापस लिया जाएगा। सरकार ने अगर तीन दिन में कोई आश्वासन नहीं दिया तो फिर वह तय करेंगे कि आंदोलन का स्वरूप क्या होगा? वह यहीं भूख हड़ताल करेंगे।

प्रदर्शनकारियों ने मांग की कि सरकार 22 करोड़ रुपये की लागत से पशु काटने के लिए वधशाला नहीं बल्कि आदर्श गौशाला के लिए खर्च करें। भाजपा पार्षद दल के नेता ओमप्रकाश रक्षवाल ने कहा कि सरकार इस कार्य को रोहतक जिले में करे। सरकार सभी अच्छे काम रोहतक से शुरू करती है इस कार्य को भी रोहतक में किया जाए। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगराध्यक्ष सीमा भारद्वाज ने कहा कि इस शहर को यूनविर्सिटी की जरूरत है न कि बूचड़खाने की।

भाजपा जिलाध्यक्ष अजय गौड़ ने कहा कि इसका पुरजोर किया जाएगा। भारत स्वाभिमान ट्रस्ट की युवा इकाई युवा भारत संगठन के कार्यकर्ताओं ने संगठन के प्रभारी बिजेंद्र नेहरा के नेतृत्व में सरकार के खिलाफ रोष व्यक्त किया और धरना स्थल पर पहुंचे। समाजिक संगठन महानायक स्मृति मंच के संयोजक सुरेश यादव ने कहा कि जिले में इसके खिलाफ आंदोलन चलेगा। पतांजलि योग पीठ के मंडल प्रभारी जयपाल शास्त्री ने कहा कि भगवान महावीर, महर्षि दयानंद, महात्मा गांधी के देश में कत्लखानों का कोई स्थान नहीं है।

अधविक्ता शविदत्त वशिष्ठ ने कहा कि सरकार के इस कृत्य का सड़क पर उतरकर इसका विरोध किया जाएगा। प्रदर्शन में पूर्व पार्षद सीमा त्रिखा, मुकेश शर्मा, रविंद्र, राजेश भाटी, सतीश वधवा, डॉ. राकेश अग्रवाल, वंदना, प्रवीन गुप्ता, राकेश गुप्ता, रामचरण चौधरी, जीत भाटी, जगपाल, गोविंद, अजीत भाटी, नरेश दलाल, रामवीर शर्मा व गजेंद्र आदि शामिल हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पशु वधशाला के विरोध सांकेतिक आमरण अनशन