DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जाम में फंसते ही बंद होगी गाड़ी

 कानपुर वरिष्ठ संवाददाता

पेट्रोल की दरों में आए दिन वृद्धि हो रही है। शहरों में ट्रैफिक बढ़ रहा है। अक्सर जाम में फंसना पड़ता है। चौराहों पर सिग्नल लाल से हरा होने में लंबा वक्त लगता है। इन सभी में गाड़ी का पेट्रोल फुंकता है। इसकी फिक्र आम आदमी को ही नहीं बल्कि वाहन बनाने वाली कंपनियों को भी है।

‘हीरो’ उन कंपनियों में एक है जिसने ग्रीन टेक्नालॉजी अपनाना शुरू किया है। जाम में फंसे तो गाड़ी का इंजन पहले 30 सेकेंड और फिर पांच सेकेंड में खुद बंद हो जाएगा। क्लच दबाते ही गाड़ी चलने लगेगी। आईआईटी, कानपुर के पूर्व छात्र और हीरो कम्पनी में एजीएम हरजीत सिंह अपने 1979 बैच के पूर्व सहपाठियों के साथ कैंपस में पुराने दिनों की यादें ताजा कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने बताया कि उनकी कंपनी ने खुद शोध कर इसका पेटेंट लिया है।

क्लच और लीवर के संयुक्त संगम से तैयार माइक्रो हाइब्रिड टेक्नालॉजी में ईधन बचाने की अद्भुत क्षमता है। इसे ‘आई स्मार्ट’ वाहन में लांच किया गया है। प्लेजर बाइक में भी इन्टीग्रेटेड ब्रेकिंग सिस्टम शुरू किया जा रहा है। एक ही ब्रेक से गाड़ी सन्तुलित रूप में खड़ी हो जाती है। हीरो जयपुर में अपना शोध केन्द्र खोल रहा है। फूलन और मलखान का भी हाथ देखा : न्यूयार्क से आए राकेश शर्मा ने बताया कि उन्होंने सुशील कुमार अग्रवाल, राजेन्द्र दीक्षित और अशोक कुमार के साथ मिलकर संस्थान में एस्ट्रोलॉजी क्लब खोला था।

शौक के चलते वे एक बार मध्य प्रदेश में सुब्बाराव की मदद से 76 आरोपी डकैतों से मिले थे और उनके हाथ देखे थे। इनमें फूलनदेवी और मलखान सिंह समेत अनेक का हाथ देखा था। फूलन बातचीत में बहुत शार्प थी। कई हस्तियों जैसे जार्ज फर्नाण्डीज, भीमसेन जोशी, कुमार गन्दर्भ, शवि प्रकाश शर्मा, जाकिर हुसैन आदि के भी हाथ देखे। राकेश के साथ सुशील कुमार ने कहा कि वे ज्योतिष में वशि्वास रखते हैं। जो वैज्ञानिक इसे खारिज करते हैं उनकी बात हमारी समझ से परे है।

नेप्च्यून गृह से मिलने लगे सिग्नल : यूनविर्सिटी ऑफ कैलीफोर्निया से आए उमेश कुमार मिश्रा उस टीम के मुखिया थे जिन्होंने अमेरिका से भेजे गए वॉयगर (शोध वाहन) से सिग्नल रिसीव करने के लिए एम्प्लीफायर बनाया था। इसे बनाने में मात्र दो साल लगे। इसने उच्च गुणवत्ता के सिग्नल प्राप्त किए। तीन दशक बाद भी इससे सिग्नल मिल रहे हैं। अब यह वाहन सौरगृह परिवार से अलग हो चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जाम में फंसते ही बंद होगी गाड़ी