DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूची गलत मिली तो होगी कॉलेज पर एफआईआर

कानपुर। वरिष्ठ संवाददाता

फीस वापसी के लिए कॉलेजों की ओर से भेजी गई सूची में नाम और खाते गलत मिले तो कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ एफआईआर दर्ज होगी। समाज कल्याण विभाग ने सूची सत्यापन करने के लिए अधिकारियों की टीम बनाई है। 21 जनवरी से प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। नए नियम के तहत शुल्क प्रर्तिपूति सीधे खातों में ई-पेमेंट के जरिए होनी है। ई-पेमेंट में सम्बंधित कॉलेजों का नाम, छात्रों का नाम और उनका बैंक खाता संख्या समाज कल्याण विभाग में भेजा गया है।

समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों के मुताबिक संभव है कि एक बार जो सूची कॉलेज की ओर से आई है, उसी आधार पर खातों में रकम भेजी जाए। ऐसी संभावना भी है कि छात्र व खाता संख्या गलत हो और फीस किसी दूसरे के हाथ लग जाए। इसे देखते हुए समाज कल्याण विभाग ने कॉलेजों की भेजी सूची का सत्यापन करने का फैसला किया है। इस सिलसिले में शुक्रवार को डीआईओएस के साथ बैठक करके रणनीति तैयार की है। समाज कल्याण अधिकारी हर्ष मवार का कहना है कि कुछ कॉलेजों का सत्यापन डीआईओएस खुद करेंगे।

इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों के लिए समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों की टीम सत्यापन करेगी। सभी कॉलेजों का सत्यापन किया जाएगा। गलत पाए जाने पर कॉलेजों के खिलाफ कार्रवाई होगी। उसके बाद ही शुल्क प्रतिपूर्ति की प्रक्रिया शुरू होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूची गलत मिली तो होगी कॉलेज पर एफआईआर