DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस का नंगा नाच, क्लास में छात्रों को पीटा

 इलाहाबाद प्रमुख संवाददाता

लोक सेवा आयोग के भ्रष्टाचार की सीबीआई जांच की मांग को लेकर दूसरे दिन भी जमकर बवाल हुआ।

पुलिस, पीएसी और आरएएफ के जवानों ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय कैंपस में नंगा नाच किया। पुलिस ने क्लास में घुसकर पढ़ाई कर रहे छात्रों पर जमकर लाठी बरसाई। शिक्षकों ने रोका तो उनके साथ बदसलूकी कर छात्राओं को भद्दी-भद्दी गालियां भी दी। पूरे कैंपस में छात्रों को दौड़ाकर उन पर लाठियां बरसाईं गईं। इससे कई छात्रों को गंभीर चोटें आई हैं। भगदड़ में गिरकर कई छात्राएं घायल हो गईं हैं। बवाल के कारण बाकी विभागों की क्लास भी प्रभावित हुई और एलएलबी तीसरे व पांचवें सेमेस्टर की परीक्षा नहीं हो सकी।

गुरुवार को पुलिस और प्रतियोगियों के बीच हुए संघर्ष के बाद शुक्रवार सुबह से ही इविवि कैंपस के आसपास पुलिस का सख्त पहरा था। छात्रसंघ भवन के सामने भारी संख्या में पीएसी और आरएएफ के जवान तैनात थे। इस कारण दिन में 12 बजे तक छात्रसंघ भवन के सामने बने प्रतियोगी छात्रों के क्रमिक अनशन स्थल पर सन्नाटा था। कोई छात्र वहां जाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था। 12.30 बजे आम आदमी पार्टी (आप) के कार्यकर्ता अनशन स्थल पर पहुंचे और आसपास मौजूद प्रतियोगी छात्रों को लेकर सभा शुरू कर दी।

दस मिनट बाद एएसपी देव रंजन, सीओ समर बहादुर सिंह सहित अन्य अफसर पीएससी और आरएएफ के जवानों को लेकर अनशनस्थल पर गए और यह कहते हुए सभा करने से मना कर दिया कि इसके लिए इजाजत नहीं ली गई है। इस बात को लेकर आप कार्यकर्ताओं और छात्रों की पुलिस से झड़प हुई। पुलिस ने आप कार्यकर्ताओं, छात्रों को गिरफ्तार कर लिया और अनशन स्थल पर लगे तंबू को तोड़कर सारा सामान गाड़ी में लादकर थाने भेज दिया। वहां मौजूद छात्रों को भी पुलिस भगाने लगी।

नाराज छात्रों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। पुलिस अफसरों की अगुवाई में पीएसी और आरएएफ के जवानों ने छात्रों को दौड़ा लिया। यह छात्र संस्कृत और राजनीति विज्ञान विभाग की ओर चले गए। इन्हें दौड़ाते हुए पीएसी और आरएएफ के जवान इन दोनों विभागों की क्लास में घुस गए और पढ़ाई कर रहे छात्रों की जमकर पिटाई। संस्कृत विभाग में प्रो. शंकरदयाल द्वविेदी और राजनीति विज्ञान विभाग में शिक्षकों ने मना किया तो पुलिस ने उनके साथ बदसलूकी की।

पूरे कैंपस में छात्रों की जमकर पिटाई की गई। इससे भगदड़ मच गई। इस दौरान कई छात्र और छात्राएं गिरकर घायल हो गए। पिटाई कर कैंपस से छात्रों को बाहर करने के बाद पुलिस शांत हुई। लोक सेवा आयोग के सामने हुए लाठीचार्ज के बाद प्रतियोगी छात्र लोअर मेन्स 2008 के परिणाम और आयोग में व्याप्त भ्रष्टाचार की सीबीआई जांच, अध्यक्ष और सचवि को बर्खास्त करने की मांग को लेकर 19 दसिंबर से ही इविवि छात्रसंघ भवन के सामने क्रमिक अनशन पर बैठे थे।

गुरुवार को प्रतियोगी यहीं से लोक सेवा आयोग तक शांति मार्च निकालना चाहते थे तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया था। इसे लेकर जमकर बवाल हुआ था। लाठीचार्ज, पथराव और फायरिंग के बाद पुलिस की गाड़ी फूंक दी गई थी।

इविवि बंद, परीक्षाएं स्थगित

 दो दिनों से चल रहे बवाल को देखते हुए शनिवार को इविवि को बंद कर दिया गया है। रजिस्ट्रार ने बताया कि शनिवार को इविवि और कॉलेज में होने वाली सेमेस्टर परीक्षाएं भी स्थगति कर दी गई हैं।

परीक्षा नियंत्रक प्रो. एचएस उपाध्याय के मुताबिक इन परीक्षाओं के साथ ही एलएलबी तीसरे और पांचवें सेमेस्टर की परीक्षा की तिथि बाद में घोषित की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुलिस का नंगा नाच, क्लास में छात्रों को पीटा