DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेल पटरी पर मिला व्यापारी का शव

 शवकुंडा। निज संवाददाता

फेरी लगाने के लिए घर से निकले कपड़ा व्यापारी का शव रेल पटरी पर पाया गया। संदिग्ध हालत में मिले युवक के शव को देखकर परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। घटनास्थल पर पहुंची थाने की पुलिस और जीआरपी के बीच घंटों सीमा विवाद रहा। लेखपाल बुलाने की नौबत आई तो जीआरपी ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। रायबरेली जनपद के सलोन थाना क्षेत्र के सलोन बाजार का निवासी उमेश कुमार (22) पुत्र विपिन कुमार कपड़े की फेरी लगाकर जीविकोपार्जन करता था।

गुरुवार को वह घर से रायबरेली जाने को कहकर निकला तो वापस नहीं आया। शुक्रवार सुबह उसका शव नवाबगंज थाना क्षेत्र की सीमा पर गौरेया गांव के सामने रेल पटरी पर पाया गया। उसका एक पैर कटा था, बाकी उसे कहीं चोट नहीं थी। शव देखने से ऐसा प्रतीत हो रहा था कि उसकी हत्या कर शव पटरी पर रखकर आत्महत्या साबित करने का प्रयास किया गया। ग्रामीणों की सूचना पर घंटों बाद नवाबगंज पुलिस मौके पर पहुंची तो उसकी पहचान हुई।

पुलिस ने यह कर शव उठाने से मना कर दिया कि जहां शव है वह ऊंचाहार थाने में है। ऊंचाहार से जीआरपी पहुंची तो उसने नवाबगंज क्षेत्र बताया। दोनों में घंटों सीमा को लेकर विवाद चलता रहा। नवाबगंज पुलिस ने लेखपाल बुलाने की बात कही तो जीआरपी शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजने को तैयार हुई। युवक की मौत की जानकारी होते ही उसके बड़े भाई प्रमोद, छोटे भाई अंकि त, मां तारावती, छोटी बहनों सुमित्रा व विनीता का रो रोकर बुरा हाल हो गया।

परिजनों ने युवक की हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस को तहरीर दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रेल पटरी पर मिला व्यापारी का शव