DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार के बालू घाटों से भी खनन पर रोक

पडरौना। निज संवाददाता

जनपद की सीमा से सटे बिहार प्रांत के जिला पश्चिमी चंपारण स्थित बालू घाटों से भी खनन पर रोक लगा दी गई है। अब बिहार की रसीद पर यूपी में आ रहे बालू को अवैध माना जाएगा। इसके लिए एडीएम ने सभी एसडीएम को निर्देश पत्र भेज दिया है। कुशीनगर जनपद की लगभग 50 किलोमीटर लंबी सीमा बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले से सटती है।

गण्डक नदी इन दोनों प्रदेशों के बीच सीमा रेखा का काम करती है। बिहार सीमा में स्थित घाटों से बालू कुशीनगर और महराजगंज जिले तक जाता है। पश्चिमी चंपारण के जिला खनन कार्यालय ने कुशीनगर के खनन कार्यालय को पत्र भेजकर इस बात की जानकारी दी है कि बेतिया व बगहा पुलिस जिला के अंतर्गत आने वाले इन बालू घाटों का अनुबंध 31 दिसम्बर 2013 को समाप्त हो गया। हेमन्त कुमार बनाम अन्य के एक मामले में पारित आदेश के अनुसार नए सिरे से बालू घाटों का बंदोबस्त स्थगति है।

इसलिए 31 दिसम्बर के बाद बिहार की रसीद पर बालू का परवहिन अवैध है। खनन कार्यालय को मिले इस पत्र को ध्यान में रखते हुए एडीएम डॉ. अखिलेश कुमार मिश्र ने जिले के सभी एसडीएम को बिहार की रसीद पर बालू परवहिन पर रोक लगाने का निर्देश देते हुए कहा है कि ऐसे लोगों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाय।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार के बालू घाटों से भी खनन पर रोक