DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनाज घोटाला की सीबीआई जांच तेज

उत्तर प्रदेश के गोण्डा जिले में सम्पूर्ण रोजगार ग्रामीण गारण्टी योजना में हुए लगभग 451 करोड़ रुपये के घोटाले की जांच कर रही केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने आवश्यक वस्तु एवं खाद्य निगम के जिला प्रबंधक को लखनऊ तलब किया है। 

सीबीआई सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि वर्ष 2004-06 कदौरान जिले में हुए घोटाले में दर्ज 63 मुकदमों के करीब 300 आरोपियों में शामिल तत्कालीन मुख्य विकास अधिकारी, व्लाक प्रमुख एवं कोटेदार ट्रांसपोर्टर, व्यापारिक फर्मे, रेलवे और सम्बंधित विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों के बयान की जांच की जा रही है।

उन्होने बताया कि इसके साथ अभिलेखों, दस्तावेजों, पत्रावलियों, रेलवे वैगनों एवं ट्रकों से भेजे गये अनाज का ब्यौरा और अन्य प्रान्तों को भेजे गये अनाज के विवरण का व्यौरा खंगाला जा रहा है। 

गौरतलब है कि 19 व्यापारिक फर्मों में 15 फर्मे गोण्डा एवं चार फर्म बहराइच की शामिल हैं। इसमें आरोपियों में कई राजपत्रित अधिकारी, व्लाक प्रमुख, कोटेदार और अन्य आरोपी जेल भेजे जा चुके हैं और जमानत पर हैं।  आवश्यक वस्तु निगम के जिला प्रबंधक आर.आर. पटेल को आगामी छह जनवरी को अभिलेखों सहित तलब किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अनाज घोटाला की सीबीआई जांच तेज