DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नॉर्थ कैंपस में मेट्रो फीडर बसें चलाने की तैयारी

नए साल के आगाज के साथ ही डीएमआरसी दिल्ली विश्वविद्यालय के नार्थ कैंपस के छात्रों को और अधिक सहूलियत देने के मन में है। इसके लिए मेट्रो फीडर बसों की संख्या में वृद्धि करने की तैयारी है। माना जा रहा है कि जनवरी में ही करीब दो दर्जन फीडर बसों को इस रूट पर उतारा जाएगा। इसके बाद अन्य रूट पर भी फीडर बसों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

डीएमआरसी के अधिकारी के मुताबिक जनवरी में येलो लाइन (जहांगीरपुरी-हुडा सिटी सेंटर) के बीच सबसे पहले नई फीडर बसों को उतारा जाएगा। इसमें नार्थ कैंपस इलाके में लगभग पंद्रह से 20 बसों को उतारने की तैयारी है। नए बेडे़ के लिए मेट्रो को पहले से ही परिवहन विभाग की ओर से रूट पर मंजूरी मिल चुकी है। नई योजना के तहत पचास नए रूट पर लगभग 400 नई फीडर बसों को उतारा जाना है। इस तरह करीब साठ स्टेशनों की दूरी को इन फीडर बसों के जरिये तय किया जा सकेगा। लोगों को महज पचास मीटर के दायरे में ही यह बसें उपलबध हो सकें और अधिक से अधिक लोग मेट्रो की सेवा ले सकें, ऐसी योजना बनाई जा रही है। इन बसों को चार कलस्टरों में चरणबद्ध तरीके से उतारा जाएगा।

क्या है योजना
कलस्टर ए पर होंगे 20 रूट
कलस्टर बी पर होंगे 21 रूट
कलस्टर सी पर होंगे 19 रूट
सौ फीडर बसों के लिए कलस्टर डी पर आएंगे नौ स्टेशन।
एसी रहित होंगी नई फीडर बसें
चार कलस्टरों में उतरेंगी चार सौ बसें
तीन सौ बसों को साठ एसटीए रूट पर मंजूरी मिली है, इस दायरे में 41 स्टेशन आएंगे

योजना आगे खिसकी थी
मेट्रो के फीडर बसों की संख्या वृद्धि पिछले वर्ष अक्टूबर में ही होनी थी, लेकिन बसों के लिए निर्धारित रूट पर ऑपरेटरों की आपत्ति और बसों के नए रूप को लेकर हुई दिक्कत की वजह से यह योजना आगे खिसक गई।

117 बसों से 11 स्टेशनों पर ही जाती हैं बसें
50 नए स्टेशनों तक लोगों की पहुंच बढेंगी नई बसों से
20 की अपेक्षा 28 से लेकर 32 लोग बैठ सकेंगे नई बसों में

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नॉर्थ कैंपस में मेट्रो फीडर बसें चलाने की तैयारी