DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रदूषण के खिलाफ साइकिल से भारत यात्रा पर निकला युवक

प्रदूषण के खिलाफ साइकिल से भारत यात्रा पर निकला युवक

प्रदूषण देश में सबसे बड़ी समस्या है। इसके निदान के लिए जागरुकता अभियान चलाने देशभर की यात्रा पर निकला पश्चिम बंगाल का एक साइकिल सवार युवक, इन दिनों छत्तीसगढ़ में अलख जगा रहा है।

पेशे से शिक्षक 35 वर्षीय रामप्रसाद नश्कर पिछले महीने 18 दिसंबर को साइकिल पर सवार होकर कोलकाता से चले थे। उन्होंने 14 दिनों में 1500 किलोमीटर की यात्रा तय की है और अगले छह माह में 13 हजार किलोमीटर यात्रा करने का लक्ष्य रखा है।

नश्कर पश्चिम बंगाल में सर्वशिक्षा अभियान के शिक्षक हैं। वह अब तक झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़ की यात्रा कर चुके हैं, आगे हैदराबाद, चेन्नई, तिरुअनंतपुरम, पणजी, मुंबई, दिल्ली, श्रीनगर तक की यात्रा करना चाहते हैं।

नश्कर राह में पड़ने वाले नगर और गांव में प्रदूषण नियंत्रण से संबंधित जागरूकता लाने के लिए प्रचार के लिए पम्प्लेट और स्कूलों के शिक्षकों से भेंट कर अपनी बात रख रहे हैं। उन्हें गांव में अच्छा सम्मान मिल रहा है और समाजसेवी लोग मिलकर उनके प्रयास की सराहना भी कर रहे हैं।

साइकिल यात्री ने पॉलीथिन के खिलाफ अभियान चलाकर पर्यावरण को सुरक्षित और संरक्षित करने की दिशा में प्रयास करने की जरूरत बताई है। उनका कहना है, ''दैनिक उपयोग की सामग्रियों के साथ जगह-जगह पॉलीथिन जमा हो रहा है और उसे कई स्थानों पर खुले में फेंक दिया जाता है। गंगा बचाओ अभियान के तहत उत्तराखंड की सरकार ने पॉलीथिन पर प्रतिबंध लगाया है। यही प्रतिबंध सभी राज्य सरकारों को लगाना चाहिए।''

साइकिल यात्री शिक्षक के इस अभियान को छत्तीसगढ़ के युवाओं ने भी हाथोंहाथ लिया है। उनके समर्थन में कई संगठनों ने अब प्रदूषण के खिलाफ जंग छेड़ने का ऐलान कर दिया है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रदूषण के खिलाफ साइकिल से यात्रा पर निकला युवक