DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेयर व डिप्टी मेयर का चुनाव सीधे तौर पर हो

गया निज संवाददाता। गया नगर निगम की व्यवस्था और इसकी स्थिति पर शहरवासी खासे चिंतित हैं। शहर के कुछ गणमान्य नागरिकों ने मेयर और उपमेयर का चुनाव सीधे तौर पर करने की बात कही। उनका कहना है कि पार्षदों के द्वारा इन पदों का चुनाव होने से खरीद-फरोख्त होती है और भ्रष्टाचार की शुरूआत यहीं से हो जाती है। गया नगर निगम की स्थिति को बयां करते हुए नागरिकों ने विभाग के प्रधान सचवि और कमशि्नर को इसमें हस्तक्षेप करते हुए स्थिति में सुधार लाने की मांग की है ताकि अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की पहचान वाले एवं कई धर्मो के तीर्थस्थल के रूप में प्रसिद्ध गया का विकास भ्रष्टाचारमुक्त हो सके।

भ्रष्टाचार का दूसरा नाम नगर निगमरेणुका पालित ने कहा कि वर्तमान में भ्रष्टाचार का दूसरा नाम नगर निगम हो गया है। उन्होने बताया कि जब चुने हुए प्रतिनिधि मेयर व उप-मेयर के रूप में सही व्यक्ति का चुनाव नहीं कर पाते तो इन दोनो पदों पर सीधा चुनाव होना चाहिए। सीधा चुनाव के बाद इन पदधारियों पर पब्लिक का सीधा दबाव होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेयर व डिप्टी मेयर का चुनाव सीधे तौर पर हो