DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टैक्स मूल्यांकन में तहसीलदार कर रहे गड़बड़ी

मुजफ्फरपुर। कार्यालय संवाददाता। नगर निगम के तहसीलदार होल्डिंग टैक्स मूल्यांकन के स्वकर निर्धारण में भी गड़बड़ी कर रहे हैं। किराये पर उठाये गये आवासीय मकान पर निर्धारित बढ़ी हुई हुई दर की बजाय कम दर से टैक्स लगाया जा रहा है। मकान की भौतिक स्थिति की वास्तविक जानकारी भी तहसीलदार छिपा रहे हैं।

मकान इस संदर्भ में नगर आयुक्त सीता चौधरी ने वार्ड-27 के तहसीलदार फैज हुसैन से जवाब-तलब किया है। फैज हुसैन की ओर से नगर आयुक्त को दिये जवाब ने नगर निगम के टैक्स दारोगा व टैक्स शाखा के कर्मचारियों को भी कटघरे में ला दिया है।

फैज का कहना है कि किराये पर उठाये गये मकानों से किस दर पर टैक्स वसूलना है, इसकी कोई सूचना मुझे नहीं मिली है। इसलिए दामुचक मोहल्ले के ऐसे सभी मकानों से मैं अब तक आवासीय दर पर ही टैक्स वसूलता रहा। नगर आयुक्त के निर्देश के मुताबिक किराये पर उठाये गये मकानों के मूल्यांक न का डेढ़गुणा कर कुल मूल्यांकन का नौ प्रतिशत टैक्स वसूलना है।

नगर आयुक्त ने बताया कि कई जगहों से ऐसी भी सूचना मिल रही है कि तहसीलदार टैक्स मूल्यांक न में गड़बड़ी कर रहे हैं, लेकिन मकान मालिक को खुद सोचना चाहिए कि स्वकर मूल्यांकन के फॉर्म पर उनका ही हस्ताक्षर होता है।

अगर जांच में कभी उनकी ओर से दी गई सूचना गलत निकल गई तो उन्हें जुर्माना भुगतना पड़ सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टैक्स मूल्यांकन में तहसीलदार कर रहे गड़बड़ी