DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विजेन्द्र चौधरी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट

मुजफ्फरपुर। वरीय संवाददाता। करीब 13 वर्ष पुराने बहुचर्चित पंकज मार्केट हत्याकांड में नोटिस के बावजूद पूर्व विधायक विजेन्द्र चौधरी कोर्ट में गवाही के लिए उपस्थित नहीं हो रहे हैं। नोटिस के बाद कोर्ट ने पूर्व विधायक समेत आधा दर्जन लोगों के खिलाफ गवाही नहीं देने पर गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। गवाही नहीं होने के कारण ही यह हत्याकांड वर्षो से लंबित है।

वर्ष 2001 में पूर्व विधायक के आवास से कुछ ही दूरी पर बड़े चीनी कारोबारी धर्मनाथ प्रसाद के पुत्र की दिनदहाड़े हत्या कर दी गयी। पुलिस मुख्यालय के स्तर पर मामले की मॉनिटरिंग की गयी। हत्या के दो साल बाद तत्कालीन नगर थानाध्यक्ष तारणी प्रसाद यादव ने कुख्यात अपराधी शेरू के खिलाफ चार्जशीट दायर किया।

तब एक चर्चित चीनी कारोबारी की संदेहास्पद भूमिका भी सामने आयी थी। गवाही नहीं होने के कारण मामला कोर्ट में लंबित चल रहा है। नोटिस के बाद कोर्ट ने पूर्व विधायक के अलावा दाता कम्बल शाह मजार मोहल्ला निवासी मो. तौकीर खां, दुर्गा स्थान के राजेश कुमार, गरीब स्थान रोड के रामविलास प्रसाद, बालूघाट के नंदकिशोर सिंह व छाता बाजार के गुड्ड कुमार के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है।

वारंट की प्रति कोर्ट ने नगर थानाध्यक्ष को भेज दी है। इधर, पूर्व विधायक विजेन्द्र चौधरी का कहना है कि नोटिस पहले आया होगा। गिरफ्तारी वारंट की उन्हें जानकारी अब तक नहीं मिली है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विजेन्द्र चौधरी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट