DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाईस्पीड ट्रेन के लिए बनेगी नई डीपीआर

गाजियाबाद। मुख्य संवाददाता

दिल्ली से मेरठ के बीच प्रस्तावित हाईस्पीड ट्रेन की नई डीपीआर (डीटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) बनेगी। डीआईएमटीएस (दिल्ली इंटीग्रेटिड मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट सिस्टम) सर्वे के बाद डीपीआर तैयार करेगा। राजनगर एक्सटेंशन को गाजियाबाद में नया स्टेशन बनने का मौका मिल सकता है। राष्ट्रीय राजमार्ग से हटने पर ट्रैक की दूरी बढ़ सकती है। यह फैसला दिल्ली में हुई मीटिंग में लिया गया। गुरुवार को शहरी विकास मंत्रालय के दिल्ली दफ्तर में हाईस्पीड ट्रेन को लेकर बैठक हुई।

बैठक संयुक्त सचवि सीके खेतान ने ली। बैठक में एनसीआर प्लानिंग बोर्ड, एनसीआर यूपी सेल, जीडीए अफसर और मेरठ के वीसी मौजूद थे। दिल्ली से मेरठ के बीच (नब्बे किलोमीटर) हाईस्पीड ट्रेन चलाने का प्रस्ताव है। इसकी पहली डीपीआर में एनएच-58 पर एलविेटिड ट्रैक बनाने की बात कही गई थी। भूतल परवहिन मंत्रालय ने इस पर अपनी आपत्ति जताई थी। इससे एनएच पर ट्रैफिक को दिक्कत का सामना करना पड़ता। इसके बाद प्लानिंग बोर्ड नए अलाइंमेंट की तैयारी में जुट गया।

सर्वे के बाद डीपीआर में नया अलाइमेंट तय होगा। सूत्रों के अनुसार इसे हिंडन के साथ राजनगर एक्सटेंशन की तरफ से ले जाने की तैयारी है। पुराने डीपीआर में गाजियाबाद में हाईस्पीड स्टॉपेज की संख्या सात थी। अब यह संख्या बदल सकती है। डीआईएमटीएस पूरे रूट का दोबारा सर्वे करेगी। इस सर्वे के आधार पर नई डीपीआर तैयार होगी। जीडीए वीसी संतोष यादव ने बताया कि नई डीपीआर में रूट की दूरी बढ़ सकती है। पहले यह ट्रैक नब्बे किलोमीटर था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हाईस्पीड ट्रेन के लिए बनेगी नई डीपीआर