DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जब तक जनहित के फैसले लेंगे तब तक रहेगा समर्थन

 नई दिल्ली, वरिष्ठ संवाददाता

पहले पानी और फिर बिजली के लिए अहम फैसलों के बाद कांग्रेस ने साफ किया है कि जब तक आम आदमी पार्टी जनहित में फैसले लेती रहेगी तब तक कांग्रेस अपना समर्थन जारी रहेगी। कांग्रेस के बाहरी समर्थन से दिल्ली में आप पार्टी की सरकार बनी है। कांग्रेस के विधायक अरविंदर सिंह लवली ने अपने तीखे अंदाज में दोनों ही प्रमुख पाटियों पर हमला बोला।

वे वशि्वासमत के समर्थन के लिए लिए खड़े हुए थे। उन्होंने पहला कटाक्ष भाजपा नेता डॉ. हषवर्धन के भाषण पर करते हुए कहा कि पिछले 15 सालों में उन्होंने पहली बार विपक्ष का इतना औजस्वी भाषण सुना है। इसकी कमी हमें हमेशा खली है। इसके अतिरिक्त कांग्रेस के खिलाफ इतनी बाद भी वे सत्ता में नहीं आए और अब विपक्ष में बैठे हैं। यह ऐसी कुर्सी है कि उस सीट पर व्यक्ति हमेशा वेटिंग में ही रह जाता है। उन्होंने कहा ऐसी पार्टी भ्रष्टाचार की बात कर रही है, जिसके बड़े नेताओं बार- बार भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं।

जहां तक कांग्रेस के भ्रष्टाचार का मुद्दा है उसकी जांच कराई जा सकती है और उसके लिए हम तैयार हैं। उन्होंने कह कि भ्रष्टाचार के मुद्दे पर विपक्ष दिल्ली वालों को गुमराह कर रहा है। बीते सालों में बिजली- पानी की स्थिति में सुधार हुआ है और जिस समय भाजपा की सरकार होती थी तो लोग रात भर सड़कों पर बिजली आने के इंतजार में समय गुजारते थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भी दिल्ली वालों को राहत देने के लिए बिजली के बिलों पर सब्सिडी दे रही थी।

इसी प्रकार आप पार्टी ने भी सब्सिडी का ऐलान किया है। आप की नीति हमारे ही जैसी है इसका मतलब कांग्रेस ठीक काम कर रही थी। उन्होंने कहा कि सब्सिडी की पार्टी ने घोषणा तो कर दी है लेकिन इसका पैसा कहां से आएगा इसे स्पष्ट नहीं किया है। जिस बजट से यह पैसा खर्च किया जाना है उसे भी सदन की अनुमति की आवश्यकता होती है। इसके लिए अब तक बजट पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। इसके अतिरिक्त बिजली कंपनियों के खातों की जांच के आदेश भी कैबिनेट पहले ही जारी कर चुका है।

दिल्ली वालों को अफसरशाही से नहीं जूझना पड़े इसके लिए कांग्रेस इस पार्टी को समर्थन देने का फैसला लिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जब तक जनहित के फैसले लेंगे तब तक रहेगा समर्थन