अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ब्रेड और बिस्कुट भी बनायेंगे कैदी

रांची के बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल के कैदी अब ब्रेड और बिस्कुट बनायेंगे। इसके लिए अलग इकाई लगायी जायेगी। इकाई में जेल के सजायाफ्ता और अंडरट्रायल बंदी काम करंगे और इससे होनेवाली आय कैदियों की बेहतरी पर खर्च की जायेगी।ड्ढr ब्रेड-बिस्कुट बनाने के लिए कैदियों को विशेष प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसमें रिनपास प्रबंधन से सहयोग लिया जायेगा। जेल आइजी सुनील कुमार वर्णवाल के प्रयास से जेल में कुटीर उद्योग लगाने की दिशा में यह पहल की गयी है। इसके लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की जा रही है।ड्ढr जेल आइजी ने बताया कि जेल में ब्रेड के अलावा मीठा और नमकीन बिस्कुट के उत्पादन के लिए जल्द ही मशीन की खरीदारी की जायेगी। सबसे अहम बात यह है कि रांची और आसपास के इलाकों में ब्रेड-बिस्कुट का अच्छा बाजार है, यहां बहुत ज्यादा प्रतिस्पर्धा नहीं है। जेल में तैयार ब्रेड और बिस्कुट बाजार में उतारने से कारा की आय में भी वृद्धि होगी।ड्ढr दिल्ली के तिहाड़ जेल में ब्रेड और बिस्कुट का व्यापक पैमाने पर उत्पादन होता है। तिहाड़ जेल में तैयार सामानों की बिक्री बाजार में की जाती है। बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल के बाद हाारीबाग और दुमका सेंट्रल जेल में भी एसी इकाई लगाने पर विचार किया जायेगा। इससे कैदियों को आत्मनिर्भर बनने में काफी मदद मिलेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ब्रेड और बिस्कुट भी बनायेंगे कैदी