DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनपीआर कार्ड शिविर पर फिलहाल लगाम

देहरादून। कार्यालय संवाददाता

जिले में नेशनल पापुलेशन रजिस्ट्रेशन (एनपीआर आधार कार्ड) के कार्य में लेट लतीफी से नाराज जिलाधिकारी ने फिलहाल नए शिविर लगाने पर रोक लगा दी है। करीब साल भर से चल रहे इन शिविरों में सिर्फ 31.19 प्रतिशत बायोमैट्रिक पंजीकरण हो पाए हैं। कंपनी को पहले चरण में पंजीकृत हो चुके लोगों को कार्ड मुहैया कराने को कहा गया है। कलक्ट्रेट परिसर में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी बीवीआरसी पुरुषोत्तम ने एनपीआर कार्ड के लिए बायोमैट्रिक पंजीकरण का काम कर रहे इलेक्ट्रौ कौम्स इंडिया लिमिटेड (ईसीआईएल) कंपनी की प्रगति रिपोर्ट को देखा।

जिले में एक साल की मेहनत के बाद भी सिर्फ 31.19 प्रतिशत बायोमैट्रिक पंजीकरण को नाकाफी बताते हुए उन्होंने कहा कि, इतना लम्बा समय बीत जाने पर भी ईसीआईएल द्वारा आधार कार्ड नहीं दिए गए हैं। जो चिंता का विषय है। आधार कार्ड भविष्य में सबसे वशि्वसनीय पहचान पत्र बनेगा। ऐसे में सभी को उसकी जरूरत है। कंपनी के एरिया मैनेजर से उन्होंने कहा कि, उन्हें इसके लिए भुगतान किया जा रहा है। ऐसे में आधार कार्ड के प्रति कंपनी की पूरी जवाबदेही बनती है।

उन्होंने कहा कि पहले चरण में जिनके बायोमैट्रिक पंजीकरण हो चुके हैं। उन्हें कार्ड निर्गत कराना सुनशि्चित किया जाए। उसके बाद ही दूसरा चरण शुरू होगा। बायोमैट्रिक पंजीकरण होने के नब्बे दिन बाद आधार कार्ड मिल जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि, वह खुद कंपनी के ढीले रवैए की जानकारी जनगणना महानिदेशक राजमौली को देंगे। उन्होंने अपर मुख्य नगर अधिकारी उदय राणा को निर्देश दिए कि, जब स्थिति ठीक नहीं हो जाती तब तक बायोमैट्रिक पंजीकरण के लिए नए स्थानों पर शिविर न लगाए जाएं।

मौके पर ईसीआईएल के एरिया मैनेजर एसके श्रीवास्तव, तुषार गोयल आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एनपीआर कार्ड शिविर पर फिलहाल लगाम