DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो कदम चले तो चेहरे पर आई मुस्कराहट

आगरा। वो मासूम हैं, लेकिन दूसरे बच्चों की तरह से चल फिर नहीं सकते। माता-पिता या फिर चाचा-बुआ की गोद में ही मासूम यहां से वहां घूमते हैं, लेकिन बुधवार को ये बड़े खुश नजर आ रहे थे। वजह थी कि यह खुद ही ट्राइसाइकिल में बैठकर खुद ही एक जगह से दूसरी जगह आज-जा रहे थे। मौका था समेकित शिक्षा के तहत शमसाबाद बीआरसी पर विकलांग बच्चों को उपकरण वितरण समारोह का। समारोह में एसडीएम फतेहबाद उमा शंकर सिंह और बीएसए देवेन्द्र प्रकाश यादव भी मौजूद थे।

सर्वशिक्षा अभियान के तहत यह योजना चलाई जाती है। योजना का मकसद छूटे हुए बच्चों को शिक्षा से जोड़ने का है। हर वर्ष ऐसे बच्चों को चिन्ह्ति कर उनकी नापतोल की जाती है। उसके बाद एल्मिको कंपनी कानपुर के सहयोग से उपकरण का वितरण किया जाता है। बुधवार को समारोह में आए 60 बच्चों को उपकरण बांटे गए। बच्चों को व्हीलचेयर, ट्राइसाइकिल, बैसाखी, वाकिंग स्टिक, ब्लाइंड स्टिक, रोलेटर, कैलीपर्स, ब्रेल स्लेट आदि का वितरण किया गया। समारोह में बीईओ आलोक श्रीवास्तव, एबीआरसी डॉ मनोज परहिार, कुलदीप तिवारी, डॉ रानी परहिार, स्वाधीन कुमार, रामबाबू, शाकिर रजा, यासीन खाँ, अमित, सुल्तान आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो कदम चले तो चेहरे पर आई मुस्कराहट