DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कीचड़ के चलते पैदल निकलना दूभर

बाह। केंजरा मार्ग वाया बिजौली नरक की शक्ल ले चुका है। कीचड़ भरी सड़क पैदल निकलना दूभर हो गया है। फिसलन से कई दुपहिया वाहन गिर कर लोग घायल हो चुके हैं। इसी मार्ग पर फायर स्टेशन, बाह डिपो कार्यशाला समेत, कई स्कूल भी होने से छात्र छात्राओं का आवागमन बना रहता है। बाह कैंजरा रोड वाया बिजौली आज नरक बन चुका है। बिजौली के वाशिंदे सूवे की सरकार को कोसते नहीं थक रहे हैं। आये दिन वाहनों से कीचड़ उछलकर राहगीरों के कपड़े खराब होने के कारण बन रहा है।

बच्चों एवं बुजुर्ग तो इस मार्ग से निकल ही नहीं सकते हैं। बिजौली के भक्ति मण्डल सेवा समिति के अध्यक्ष अरुण उपाध्याय व सचवि अनुज बरुआ नें इस मार्ग की दर्जनों शिकायतें तहसील दवशिों व जनप्रतिनिधियों से की गयी लेकिन किसी ने भी शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया। सड़क पानी का नाला बन कर रह गयी है। पूरी सड़क पर कीचड़ का साम्राज्य है। इसी सड़क से दर्जनों गांवों समेत म0प्र0 के राहगीरों का आना जाना रहता है। मार्ग पर बाह डिपो कार्यशाला एवं फायर स्टेशन जाने का रास्ता है।

मार्ग पर करीब आधा दर्जन स्कुल हैं इससे छात्र छात्राओं का आना जाना बना रहता है। यह मार्ग सरकार के विकास की पोल खोल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कीचड़ के चलते पैदल निकलना दूभर