DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पानी की बर्बादी रोकने की कवायद शुरू

वाराणसी। कार्यालय संवाददाता

शहर की पेयजल लाइनों से लीकेज तथा अन्य कारणों से हो रही पानी की बर्बादी रोकने की कवायद शुरू हो गई है। केंद्र सरकार ने इसके लिए बंगलुरू की संस्था सीडीएम स्मिथ को प्रोजेक्ट दिया है। चार सदस्यीय टीम आनंद के जलाकम के नेतृत्व में गुरुवार को वाराणसी पहुंची जीएम जलकल बीके पांडेय से मिली। टीम के सदस्यों ने उनसे इस बारे में जानकारी एकत्र की। टीम के सदस्यों को छह महीने में अपनी प्रोजेक्ट केंद्र सरकार को देना है।

वर्तमान में जलकल के आंकड़ो के अनुसार लगभग 30 फीसदी पानी की बर्बादी गंगा से लेकर आम जनता तक पहुंचने में हो जाती है। नियमानुसार इसे 20 फीसदी होना चाहिए। इस पर भी रोक लगाने की कवायद शुरू की गई है। ठेकेदार न करे काम तो करें ब्लैक लिस्टेडवाराणसी। कार्यालय संवादातासड़कों को लेकर शासन की तेज होती कदमताल का असर नगर निगम प्रशासन पर भी दिखने लगा है। गुरुवार को चीफ इंजीनियर कैलाश सिंह ने सभी एक्सईएन, एई, जेई के साथ समीक्षा बैठक की।

उन्होंने निर्देश दिया कि जिन कामों की निर्धारित तिथि बीत गई है और ठेकेदार ने काम नहीं शुरू किया या काम नहीं पूरा किया। उसे पहले नोटिस दी जाए और फिर ब्लैक लिस्टेड करने की कार्रवाई की जाए। कहा है कि जो भी काम चल रहे हैं उन्हें जल्द से जल्द पूरा कराया जाए। इस क्रम में उन्होंने कंट्रोल रूम में आने वाले शिकायतों को भी गंभीरता से लेने का निर्देश दिया। कंट्रोल रूम से मिली जानकारी के आधार पर उन्होंने शिकायतों को 24 घंटे में निस्तारित कर रिपोर्ट तलब की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पानी की बर्बादी रोकने की कवायद शुरू