अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने कहा, नहीं चाहिए जमीन

जम्मू व कश्मीर में श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) को वन भूमि हस्तांतरण से उपजे विवाद को विराम लगाते हुए श्राइन बोर्ड ने कहा है कि उन्हें जमीन नहीं चाहिए। इधर सरकार ने फैसला किया है कि यात्रा का इंतजाम श्राइन बोर्ड नहीं सरकार करेगी। इससे पहले गुलाम नबी आजाद ने पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के सभी मंत्रियों के इस्तीफे को स्वीकार करने के लिए भेज दिया है। इन मंत्रियों ने शनिवार को इस मसले पर इस्तीफा दे दिया था। गौरतलब है कि 26 मई के आदेश के अनुसार तीर्थयात्रियों के ठहरने के लिए अस्थाई शिविर बनाने के उद्देश्य से भूमि हस्तांतरित की गई थी। बोर्ड को वहां स्थाई निर्माण करने की इजाजत नहीं थी। पीडीपी ने सरकार पर घाटी के जनांकिकीय समीकरण को बिगाड़ने का आरोप लगाया है। साथ ही उनके विरोध का एक और आधार पर्यावरणीय भी है। गौरतलब है कि पीडीपी ने अपना तीन साल का मुख्यमंत्री रहने का अपना समय पूरा कर लिया था। उसके बाद कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद मुख्यमंत्री बनाए गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने कहा, नहीं चाहिए जमीन