DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महाराष्ट्र सरकार ने आदर्श रिपोर्ट आंशिक रूप से की स्वीकार

महाराष्ट्र सरकार ने आदर्श रिपोर्ट आंशिक रूप से की स्वीकार

आदर्श घोटाला रिपोर्ट को खारिज करने के एक पखवाड़े के बाद महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने गुरुवार को न्यायिक आयोग की सिफारिशों को आंशिक तौर पर स्वीकार कर लिया। कैबिनेट ने अभ्यारोपित नौकरशाहों के खिलाफ कार्रवाई की घोषणा की लेकिन प्रतीत होता है कि वह उन राजनीतिक नेताओं पर नरमी बरत रही है जिनका नाम आयोग ने लिया है।

मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने कैबिनेट की बैठक के बाद कहा कि राजनीतिक संरक्षण के मामले में आयोग ने यह निष्कर्ष नहीं निकाला है कि वे आपराधिक कृत्य में संलिप्त थे। उन्होंने कहा कि आदर्श आयोग की रिपोर्ट में उल्लेखित राजनीतिक संरक्षण के मामले में हमने पाया कि कोई आपराधिकता शामिल नहीं है।

महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने अपने 20 दिसंबर के निर्णय की समीक्षा कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बयान के बाद की है। राहुल ने अपने इस बयान में आयोग की रिपोर्ट खारिज करने के राज्य सरकार के निर्णय से अपनी असहमति जतायी थी।

चव्हाण ने स्पष्ट किया है कि महाराष्ट्र सरकार द्वारा उन लोगों के खिलाफ अलग से कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की जायेगी, जिनका नाम सीबीआई के आरोपपत्र या सीबीआई की प्राथमिकी में है। रिपोर्ट में चार पूर्व मुख्यमंत्रियों अशोक चव्हाण, दिवंगत विलासराव देशमुख, सुशील कुमार शिंदे एवं शिवाजीराव एन पाटिल को राजनीतिक संरक्षण का आरोपी बनाया गया है।

यह पूछे जाने पर कि अशोक चव्हाण समीक्षा से कैसे बच सकते हैं, जबकि रिपोर्ट में उनके खिलाफ किसी चीज के बदले में कोई काम करने का स्पष्ट मामला बताया गया है, मुख्यमंत्री ने कहा कि सीबीआई पहले ही प्राथमिकी एवं आरोप पत्र दाखिल कर चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महाराष्ट्र सरकार ने आदर्श रिपोर्ट आंशिक रूप से की स्वीकार