DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कंप्यूटर अध्यापक करेंगें बहिष्कार लोकसभा चुनाव का

पंजाब के लगभग सात हजार कंप्यूटर अध्यापकों ने कहा है कि वे बीते साल की तरह नये साल में भी अपना संघर्ष जारी रखते हुये लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करेंगे। नये साल में भी उन्हें नवंबर और दिसंबर महीनों का वेतन न मिलने के कारण उनके घर के चूल्हे भी ठंडे रहे। कंप्यूटर मास्टर यूनियन के प्रांतीय अध्यक्ष रविन्द्र सिंह बाजवा ने राज्य स्तरीय बैठक में आज यहां कहा कि यदि सरकार उनकी जायज मांगें नहीं पूरी करती तो वे अपना आंदोलन जारी रखेंगे।
 
बैठक में कम्प्यूटर मास्टर यूनियन (सी.एम.यू.) के पदाधिकारियोंने भाग लिया तथा विभिन्न जिलों से बड़ी संख्या में कम्प्यूटर अध्यापकों ने भी शामिल होते हुए एकता का प्रदर्शन किया। यूनियन के वरिष्ठ पदाधिकारी मनप्रीत सिंह पटियाला ने सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि सरकार कम्प्यूटर अध्यापकों से धोखा कर रही है और विधान सभा चुनाव के समय किए अधिसूचना को न लागू करके उनको उनके अधिकारों से वंचित कर रही है।
    
प्रातींय उपाध्यक्ष परमिन्द्र मुक्तसरी ने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्ष के दौरान ठेके पर काम कर रहे कम्प्यूटर अध्यापकों के वेतन में एक बार भी वृद्धि नहीं की गई है जबकि इन सालों में महंगाई आसमान तक पहुंच चुकी है। उन्होंने 31 जनवरी तक उन्हें शिक्षा विभाग में शामिल करने और अधिसूचना की सभी शर्ते लागू करने की मांग की है और ऐसा न होने की सूरत में राज्य के सात हजार कंम्प्यूटर अध्यापक लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करेंगें और चुनाव प्रचार दौरान उम्मीदवारों का विरोध करेंगे। कम्प्यूटर अध्यापक प्रत्याशियों से भिक्षा मांग कर रोष प्रदर्शन करेंगे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कंप्यूटर अध्यापक करेंगें बहिष्कार लोकसभा चुनाव का