DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुशील 74 और योगेश्वर 65 किग्रा में उतरेंगे

सुशील 74 और योगेश्वर 65 किग्रा में उतरेंगे

ओलंपिक में दो पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी पहलवान सुशील कुमार तथा उनके जोड़ीदार योगश्वर दत्त ने स्पष्ट कर दिया है कि वे 2016 के रियो ओलंपिक में अंतरराष्ट्रीय कुश्ती महासंघ (फीला) के नए वजन वर्गो के अनुसार क्रमश: 74 किग्रा और 65 किग्रा में उतरेंगे।
       
सुशील ने लंदन ओलंपिक में 66 किग्रा वर्ग में रजत और योगेश्वरने 60 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक जीता था। लेकिन नए वजन वर्गों के अनुसार अब सुशील 74 किग्रा और योगेश्वर 65 किग्रा में जाएंगे। फीला ने कुश्ती में नियमों और वजन वर्गों में परिवर्तन करते हुए फ्रीस्टाइल तथा ग्रीको रोमन में एक-एक वजन हटाया है और महिला फ्रीस्टाइल में दो वजन जोड़े हैं।
       
वजन के इस परिवर्तन के कारण ही सुशील और योगेश्वर को नए वजन वर्गों में जाना पड़ रहा है। सुशील और योगेश्वर ने भारतीय कुश्ती महासंघ को सूचित कर दिया है कि वे नए वजन वर्गों में उतरने के लिए तैयार हैं। 
       
दोनों पहलवानों के गुरू और द्रोणाचार्य अवॉर्डी महाबली सतपाल ने कहा कि फीला के ओलंपिक वजन वर्गों में बदलाव का भारतीय पहलवानों पर कोई खास असर नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा था कि मेरे शिष्य सुशील, योगेश्वर और विश्व चैंपियनशिप के रजत विजेता अमित कुमार फीला के कुश्ती के वजन वर्गों में बदलाव के फैसले से कतई हतोत्साहित नहीं हैं और वे इस वर्ष होने वाले राष्ट्रमंडल तथा एशियाई खेलों तथा 2016 के रियो ओलंपिक के लिए नए वजन वर्गों में उतरने के लिए तैयार हैं।

अमित ने लंदन ओलंपिक में 55 किग्रा वर्ग के क्वार्टरफाइनल तक पहुंचे थे और उन्होंने इसी वर्ग में विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीता था। फीला ने 55 किग्रा वर्ग को समाप्त कर दिया है जिसके चलते अमित को अब 57 किग्रा वर्ग में उतरना होगा।
       
सतपाल ने कहा कि इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि फीला की वजन वर्ग में बदलाव के फैसले का पहलवानों पर असर पड़ेगा क्योंकि अमित को अब 57 किग्रा, योगेश्वर को 65 किग्रा और सुशील को 74 किग्रा वजन वर्ग में जाना होगा। इस वजन वर्ग में जाने के लिए पहलवानों को पहले अपना वजन बढ़ाना होता है ताकि बाद में वे इसे अपने स्पर्धा के वजन तक 'एडजस्ट' कर सकें।
       
लेकिन अब तीनों पहलवान फीला के नए वजन वर्गों में उतरने के लिए तैयार हैं। उन्होंने राष्ट्रीय कोचों से बातचीत करने के बाद इस फैसले के बारे में महासंघ को सूचित किया है। सुशील के 74 किग्रा में जाने के कारण पहले से 74 किग्रा में उतरने वाले नरसिंह यादव अब 86 किग्रा वजन वर्ग में जाएंगे जबकि सत्यव्रत 96 किग्रा में उतरेंगे।
         
द्रोणाचार्य अवॉर्डी सतपाल ने कहा कि मुझे अपने शिष्यों पर पूरा भरोसा है कि वे वजन वर्ग में बदलाव के बावजूद राष्ट्रमंडल, एशियाई और ओलंपिक खेलों में देश का नाम रोशन करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे। यह बात आपको अगले वर्ष ही राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में दिखाई दे जाएगी। 
  
लंदन ओलंपिक में पदक जीतने के बाद सुशील और योगेश्वर पिछले लगभग डेढ़ साल से मुकाबलों से बाहर रहे थे लेकिन अब वे नए वजन वर्गों के तहत 30 जनवरी से एक फरवरी तक अमेरिका में होने वाले डेव शूल्ज मेमोरियल अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में पहली बार मुकाबलों में उतरेंगे।
       
सुशील ने फीला टूर्नामेंटों में 70 किग्रा वर्ग में उतरने का फैसला किया है जबकि वह ओलंपिक क्वालीफायर, ओलंपिक खेलों, राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में 74 किग्रा में उतरेंगे। योगेश्वर ओलंपिक और फीला टूर्नामेंटों में 65 किग्रा में उतरेंगे।
       
अमित ओलंपिक और फीला टूर्नामेंटों में 57 किग्रा में उतरेंगे जबकि विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता बजरंग फीला प्रतियोगिताओं, विश्वकप और गोल्डन ग्रां प्री में 61 किग्रा के नए वजन वर्ग में उतरेंगे। राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण विजेता नरसिंह ओलंपिक और फीला टूर्नामेंटों में 86 किग्रा में और सत्यव्रत 96 किग्रा में उतरेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुशील 74 और योगेश्वर 65 किग्रा में उतरेंगे