DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उल्टा-पुल्टा

उल्टा-पुल्टा

राजू (पापा से) : पापा, अगर मैं फिर परीक्षा में फेल हो गया तो मैं आत्महत्या कर लूंगा।
पापा : खबरदार, तुमने आत्महत्या की बात भी की तो जान से मार दूंगा।
***
कवि सम्मेलन में एक कवि अपनी कविता पढ़ रहे थे। श्रोताओं ने उनसे रात भर कविता पढ़ने का अनुरोध किया।
कवि (श्रोताओं से) : क्या आपको यह कविता इतनी पसंद आई?
श्रोता : नहीं, आज हमारे मुहल्ले का चौकीदार छुट्टी पर गया है।
***
रोहन : बसंती, खेलने के क्या-क्या फायदे होते हैं?
बसंती : सबसे बड़ा फायदा तो यही है कि जब तक हम खेलते हैं, तब तक हमें पढ़ना नहीं पड़ता।
***
मोहन : पापा, आपने नया नौकर क्यों रखा है?
पिता : बेटा, घर का सारा काम करने के लिए।
मोहन : पापा, फिर वह मेरा होमवर्क क्यों नहीं करके देता?
***
पिता (बेटे से पूछते हैं) : अंग्रेजी में तुम्हारे कम नम्बर क्यों आए?
बेटा : अनुपस्थित होने से।
पापा : लेकिन तुम तो पेपर देने गए थे।
बेटा : हां, मैं तो गया था, लेकिन मेरे पास बैठने वाला छात्र अनुपस्थित था।
***
पिता : मूर्खों के सभी प्रश्नों के उत्तर एक बुद्धिमान नहीं दे सकता।
पुत्र : जी हां, तभी तो मैं परीक्षा में हर बार फेल हो जाता हूं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उल्टा-पुल्टा