DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नए साल के मौके पर रंगीन हुआ शहर

गाजियाबाद। कार्यालय संवाददाता

इस रशि्ते को यूं ही बनाएं रखना, दिल में यादों का चिराग जलाए रखना, कितना प्यारा था 2013, अपना साथ 2014 में भी बनाए रखना.. पिछला साल खट्टी-मीठी यादों के साथ बीत गया। साल के आखिरी दिन जश्न मनाने के बाद शहरवासियों ने बुधवार को भी जश्न मनाया। लोगों ने नए साल पर जमकर खरीदारी भी की। सुबह से शाम तक बधाई देने का सिलसिला चलता रहा। रेस्टोरेंट, मॉल और होटलों में नए साल पर लोगों की खासी भीड़ रही।

गुलाब देकर दी बधाईनए साल पर लोगों ने गुलाब देकर नए साल की बधाई दी। फूलों की दुकानों पर सुबह से ही बिक्री शुरू हो गई। सुबह से लेकर शाम तक लोगों ने फूलों की जमकर खरीदारी की। न सिर्फ युवाओं ने बल्कि बच्चों और सरकारी दफ्तरों के लिए भी फूल खरीदे गए। सुबह से लेकर शाम तक फूलों की खरीदारी का दौर चला। चौधरी मोड़ पर एक फ्लावर्स डेकोरेटर्स के संचालक ने बताया कि नए साल पर फूलों की बिक्री बढ़ जाती है।

लोगों की मांग के अनुसार गुलदस्ते बनाए गए थे। गुलदस्ते की मांग सरकारी दफ्तरों में भी रही। फिल्म देखकर मनाया नया सालशहर के लगभग सभी मॉल में फिल्म देखने वालों की भीड़ रही। सिनेमा हॉलों में जहां दोस्तों की टोलियां थीं वहीं परिवार के साथ आए लोगों की भीड़ भी थी। सुबह से ही सिनेमा हॉलों में टिकट लेने वालों की कतारे लगी रहीं। फिल्म देखने आई सोनम ने बताया कि फिल्म देखने के साथ खरीदारी भी करनी है। घरवालों की ओर से न्यू ईयर पर सरप्राइज गिफ्ट जो मिला है।

रेस्टोरेंट में मनाया न्यू ईयरशहर के ज्यादातर रेस्टोरेंट में देर रात तक भीड़ रही। नए साल पर रेस्टोरेंटों में विशेष तैयारियां की गई। ज्यादातर रेस्टोरेंट फूलों और गुब्बारों से सजे हुए थे। लोगों ने परिवारजन के साथ रेस्टोरेंट पहुंचकर खाना खाया। चौधरी मोड़ के रेस्टोरेंट में नया साल मनाने आए राजकुमार ने बताया कि बच्चों को नए साल पर खाना खिलाने लाए हैं। हर दिन तो घर का खाना खाते हैं नए साल पर रेस्टोरेंट के टेस्ट का मजा ले रहे हैं।

बाजारों में बिखरी रंगतशहर के सभी बड़े बाजारों में नए साल पर जमकर खरीदारी हुई। सभी बड़ी दुकाने गुब्बारों से सजी हुई थी। कई दुकानों में तो माल खरीदने पर विशेष छूट भी दी गई। तुराबनगर घंटाघर, गांधीनगर और गोल मार्किट जैसे बाजारों में लोगों ने खरीददारी कर नया साल मनाया। तुराबनगर में स्वेटर खरीदने आए राजेश ने बताया कि बच्चों नए साल का गिफ्ट मांग रहे हैं। बच्चों की जिद है इसलिए सर्दी में भी खरीदारी करने आए हैं।

केक की मांग बनी रही साल के पहले दिन लोगों ने केक खिलाकर नए साल की बधाई दी। केक की सभी बड़ी दुकानों पर खरीदारों के आने का सिलसिला देर शाम तक जारी रहा। राजनगर की पेस्टी दुकानों पर सुबह से लेकर शाम तक केक की मांग बरकरार रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नए साल के मौके पर रंगीन हुआ शहर