DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोल माडल बनेगा जिला महिला अस्पताल

 बहराइच। हिन्दुस्तान संवाद

नवजात की किलकारियां, सघन चिकित्सा कक्ष, हर वार्ड में टीवी के माध्यम से मिल रही स्वास्थ्य की जानकारी, वार्डो में फैला ऑक्सीजन पाइप का संजाल, किशोरियों को बिना सकुचाहट अर्श के माध्यम से बेहतर परामर्श की सुविधा अब जिला महिला अस्पताल में ही मरीजों को मिलेगी। स्वास्थ्य महकमें की ओर से भेजे गए प्रस्ताव पर शासन ने मुहर तो लगाया है, लेकिन बजट आवंटन न होने के कारण निर्माण प्रक्रिया लटकी हुई है।

विभाग की मानें तो नए साल पर महिला अस्पताल का कायाकल्प कर हाईटेक सुविधाओं से लैस मंडल का रोल मॉडल के रूप में विकसित किए जाने की कवायद तेज हो गई है। जिला महिला अस्पताल में नवजातों को आवश्यकता पड़ने पर सघन चिकित्सा कक्ष की सुविधा मिल सकेगी। अब तक जिले में यह व्यवस्था उपलब्ध न होने से मेडिकल कालेज का रुख करना पड़ता था। संसाधन के साथ मैनपॉवर भी बढ़ाया जाएगा। जरुरत हुई तो अस्पताल को तीन मंजिले तक विस्तार किया जाएगा।

इस विस्तारीकरण के क्रम में दो की जगह चार ओपीडी कक्षों का निर्माण, लेबर रूम में नार्मल व सिजेरियन के लिए दस बेड बढ़ाए जाएंगे। इसके अलावा नवजातों के लिए विशेष तौर से अस्पताल में ही जन्म लेने वाले, बाहर से आने वाले और अस्पताल में जन्म के बाद दुबारा इलाज को आने वाले नवजातों के लिए एसएनसीयू रूम का निर्माण कराया जाएगा। वहीं रात में प्रसूताओं की जरूरत के लिए अलग से रक्तकोश कक्ष का निर्माण कराया जाएगा। इस रक्तकोश में हर वक्त आठ यूनिट रक्त की उपलब्धता रहेगी।

रोगियों के ड्रेसिंग व मरहम पटटी के लिए 30 टेबल के कक्ष का निर्माण कराया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रोल माडल बनेगा जिला महिला अस्पताल