DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काले झण्डे दिखाने का था प्लान

बुढ़ाना। हमारे संवाददाता

जौला गांव में शरणार्थियों ने बसपा नेताओं को काले झण्डे दिखाने की योजना तैयार कर ली थी। इसकी भनक इंतजामिया कमेटी को लगने पर उन्होंने शरणार्थियों को समझा-बुझाकर मना लिया। जौला राहत शिविर में रहने वाले शरणार्थियों को बसपा नेताओं के आने की जानकारी मिली। बसपा नेताओं द्वारा जब मदद के लिए कहा गया, तो उन्होंने एक आवाज में कहा कि उन्हे मदद नहीं-इन्साफ चाहिए। जौला के एक ग्रामीण तो बसपा के पूर्व मंत्री योगराज सिंह को देखकर आग बबूला हो गए, जबकि दूसरे ग्रामीण ने तो बसपा के सभी नेताओं को कह दिया कि जाओ 4 माह बाद यहां क्या लेने आए हो।

जिसके बाद बसपा नेता नसीबुद्दीन सिद्दीकी ने स्थिति को सभालते हुए, सभी बातों पर सफाई पेश की। फोटो 127 जौला शिविर में बौलते बसपा नेता नसीबुदीन सिद्दीकी, 129 जौला शिविर में विरोध करता एक शरणार्थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:काले झण्डे दिखाने का था प्लान