DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिर कहां गई लूटी गयी बाकी रकम

 कार्यालय संवाददाता पटना। गांधी मैदान के बिस्कोमान भवन के समीप हुई सात लाख रुपए की लूट और उसके बाद पैसे की बरामदगी के मामले में कई तरह की अफवाहें हैं। लुटेरों को पकड़ने के लिए सिपाही स्तर के कई पुलिसकर्मी भी गए थे। इस बीच दो लाख 28 हजार रुपए की बरामदगी हुई। चर्चा यह थी कि पैसों से भरा दूसरा बैग कोई पुलिसकर्मी अपने साथ ले गया।

उसने अपने आला अफसरों से यह बात छिपा ली। चर्चा के मुताबिक दोबारा उस बैग को सामने नहीं देखा गया। संभवत: उसमें बाकी पैसे रखे थे जिसे लेकर अपराधी भाग रहे थे। बैग लेते वक्त एक पुलिसकर्मी ने दाएं-बाएं देखा और बैग छिपा लिया। दो दिनों के बाद यह बात सामने आयी है। अब सवाल है कि आखिर बाकी के पैसे कहां गए हैं। लूटी गयी बाकी की रकम लुटेरों के पास है या किसी पुलिसकर्मी की जेब में चली गयी।

सवाल यह भी है कि अगर किसी पुलिसकर्मी ने ऐसा किया है तो वह कौन था? आखिर कैसे यह चर्चा निकली कि किसी पुलिसकर्मी ने पैसा पचा लिया है। कोई गड़बड़ी नहीं हुई : पुलिस इस बाबत गांधी मैदान थानाध्यक्ष राजबिंदु प्रसाद ने पूछने पर बताया कि रकम बरामदगी के दौरान कोई गड़बड़ी नहीं हुई। पीड़ित भी सामने थे। उनके सामने सारे पैसे गिने गए। पुलिस के किसी जवान ने पैसे नहीं लिए। उनके मुताबिक बाकी के पैसों के लिए लुटेरों की तलाश की जा रही है।

पैसे वही लेकर भागे हैं। फरार बदमाशों के पकड़े जाने के बाद बाकी के रुपए भी मिल जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आखिर कहां गई लूटी गयी बाकी रकम