DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मटन-चिकेन विक्रेताओं की रही चांदी

रांची। संवाददाता

नए साल के पहले दिन मटन और चिकेन विक्रेताओं की चांदी रही। बुधवार होने के कारण सुबह से शाम तक शहर के मांस-मछली की दुकानों में भीड़ रही। पहली जनवरी के जश्न ने 10 हजार बकरे और हजारों मुर्गे की बलि ले ली। शहर में करीब पांच करोड़ के रुपए के मटन, चिकेन और मछली का कारोबार हुआ। बहुबाजार में सर्वाधिक भीड़बकरे के मांस खरीदारों की सबसे अधिक भीड़ बहुबाजार में नजर आई। यहां पर सभी नौ दुकानें अहले सुबह ही खुल गयी थीं।

एक अनुमान के मुताबिक केवल बहुबाजार में 500 से अधिक बकरे हलाल हुए। पूरे रांची में 10 हजार से ऊपर बकरे के मांस की बिक्री हुई। वहीं मछली के व्यवसाय में मामूली वृद्धि हुई। परंपरागत खरीदारों के अलावा कुछ अन्य लोगों ने खान -पान के लिए मछली खरीदा। दोगुना मटन बिका बहुबाजार के हाजी मीट शॉप के हाजी भाई ने बताया कि कारोबार से वह काफी प्रसन्न हैं। इस बार बुधवार को पहली जनवरी होने के कारण अधिकांश लोगों ने बकरे के मांस की खरीदारी की।

पिछले साल के हिसाब से इस बार दोगुना माल बिका। शहर की करीब सभी मांस दुकानों में अच्छा कारोबार हुआ। वहीं डोरंडा में मछली बेचनेवाली शांति ने बताया कि उसने पहली जनवरी को 50 किलो मछली बेचा। आम दिनों में 40 से 45 किलो मछली बेचती हैं। परंपरागत ग्राहकों को छोड़कर खासतौर पर नववर्ष के लिए मछली के खरीदार काफी कम रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मटन-चिकेन विक्रेताओं की रही चांदी