DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लगातार सीखें हम

लगातार सीखें हम

आपकी स्किल्स इस बात पर निर्भर करती हैं कि क्या आप जानते हैं कि कहां से सीखना है? आजकल जितना महत्वपूर्ण सीखना होता है, उससे शायद कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण होता है सोर्स। आजकल सामान्य डिग्री से लेकर  ऑनलाइन कोर्सेज जैसे कई विकल्प मौजूद हैं, पर सारे विकल्प हर जरूरत के अनुसार नहीं होते।

आप यदि ध्यान से देखें तो पायेंगे कि नियमित पाठय़क्रम और ऑनलाइन पाठय़क्रम यानी कोर्सेज अलग-अलग जरूरतों को पूरा करते हैं और इनकी स्वीकार्यता भी परिस्थितियों पर निर्भर करती है। इसके अलावा, जो चीज सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होती है वह है ब्रैंड। यदि किसी नए कोर्स में दाखिला लेते वक्त इन चीजों का ध्यान रखा जाए तो उस कोर्स का अधिकतम फायदा मिल सकता है।

यदि आप किसी करियर को लेकर वाकई गम्भीर हैं तो नियमित पाठय़क्रम आपकी पहली पसंद या कहें कि पहली जरूरत होती है। एक अच्छे इंस्टीटय़ूट से किया गया नियमित पाठय़क्रम आपको करियर बनाने में सबसे ज्यादा मदद करता है। फिर बारी आती है पार्ट टाइम पाठय़क्रम की। ये कोर्सेज आपकी तभी मदद कर सकते हैं, जब आप कोर्स के साथ-साथ संबंधित नौकरी भी कर रहे हों अन्यथा ये आपको सिर्फ प्रमाणपत्र के अलावा कुछ भी नहीं देते।

जहां तक ऑनलाइन कोर्सेज कि बात है, इस देश में अभी इनकी स्वीकार्यता प्रमाणित होना बाकी है। विदेशों में इसे लेकर कई प्रयोग हो रहे हैं, जहां स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी आम आदमी के लिए मुफ्त कार्यक्रम चला रही है, वहीं एक यूनिवर्सिटी सिर्फ एग्जाम के लिए बुलाती है। शेष सारे पाठय़क्रम ऑनलाइन होते हैं। भारत में फिलहाल यूनिवर्सिटीज द्वारा कोई ऐसा प्रयोग नहीं किया गया है और जो कुछ छिटपुट अभी चल रहा है, उसकी उद्योगों द्वारा स्वीकार्यता प्रमाणित किया जाना बाकी है।

सिर्फ तिलक लगा लेने से कोई विद्वान नहीं बन जाता, इसलिए पाठय़क्रम वही चुनिए जिसे उद्योगों द्वारा स्वीकार किया गया हो और जो आपकी परिस्थिति के अनुसार हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लगातार सीखें हम