अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुझे नहीं छोड़ेगा गुड्डू पंडित:शीतल

डिबाई के विधायक श्री भगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित की गिरफ्तारी के बाद भी शीतल की आँखों में भय की परछाइयाँ हैं। वह बोलती है तो होंठ कँपकँपाने लगते हैं। शीतल का कहना है कि गुड्डू पंडित के हाथ बहुत लंबे हैं। ोल से ही वह उसे और उसके परिवार को नेस्तनाबूद कर सकता है।ोब वह बोलती है तो उसके माँ-बाप निरीह होकर उसकी ओर कातर निगाहों से देखने लगते हैं। उन्हें अपने बेटे वैभव की भी चिंता है,ोिसे मारने की धमकी विधायक के गुंडे उन्हें कुछ दिन पहले दे चुके हैं।ड्ढr ‘हिन्दुस्तान’ द्वारा अपने शोषण के मामले को प्रमुखता से उठाएोाने पर धन्यवाद देते हुए शीतल ने बताया कि एटा व कांशीराम नगर दोनोंोिलों के पुलिस कप्तान ने सुबह दो घंटे उससे बातचीत की है तथा उसके घर की सुरक्षा के लिए एक सब इंस्पेक्टर और दो कांस्टेबिल तैनात किएड्ढr हैं। भयाक्रांत शीतल बताती हैड्ढr कि यह सुरक्षा उसके लिए पर्याप्त नहीं है। वह हमेशा घर में तो कैद नहीं रहेगी। उसे घर से बाहर भीोाना होगा। विधायक के यार-दोस्त तथा पाले हुए गुर्गे ही उसका व उसके परिवार का निपटारा करने के लिए काफी हैं।ड्ढr शीतल बताती है कि वह विधायक के प्यार में पागल थी तथा विधायक भी उस परोान छिड़कता था। विधायक ने खुद को अविवाहित बताकर उससे संबंध स्थापित किए थे।ोब भेद खुला तो उसने नाराागीोताई। दो-तीन माह की तकरार के बाद सब कु छ सामान्य हो गया किंतु विधायक उसे समाा के सामने अपनी बीवी कहने को तैयार नहीं है।ोब भी उसने यह माँग उठाई, बदले में पिटाई मिली।ड्ढr इससे आािा आकर वह चली आई तो विधायक को यह गवारा नहीं हुआ कि उसे छोड़कर वह किसी से शादी कर। यही कारण है कि उसके खिलाफ फर्ाी मुकदमे लिखाए गए। विधायक के गुंडों ने उसका पीछा शुरू कर दिया।ड्ढr पिछले दो माह से विधायक के गुंडे उसे ढूँढ़ रहे थे। वह लगातार भाग रही थी। इस कार्य में सहयोग प्रमोद पाठक ने किया तो शुक्रवार को शिकोहाबाद में प्रमोद को गिरफ्तार करा दिया। इसके बाद माबूरी में उसे मुँह खोलना पड़ा। वह केवल शांति से रहना चाहती है किंतु विधायक उसे छोड़ना नहीं चाहता।ड्ढr शीतल की माँ मनोरमा ने बताया कि 10 दिन पहले गुड्डू पंडित ने विपिन सोनी नामक एक व्यक्ित को भेााोो शीतल का पता पूछ रहा था।ोब उन्होंने अनभिज्ञताोताई तो उसने धमकी दी कि उनका एक बेटा है, बेवाह वह शहीद होोाएगा। बेचारी माँ अपनी बेटी व बेटे की सुरक्षा को लेकर परशान है, उसकी आँखों की नींद उड़ चुकी है। बेटे वैभव को अब वह घर से बाहर नहींोाने देती।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मुझे नहीं छोड़ेगा गुड्डू पंडित:शीतल