मनमोहन कचचा कचचाम बोलता है : सोनिया - मनमोहन कचचा कचचाम बोलता है : सोनिया DA Image
19 फरवरी, 2020|3:47|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मनमोहन कचचा कचचाम बोलता है : सोनिया

विपक्ष के साथ-साथ समर्थक दलों की आलोचनाओं का शिकार हो रहे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने जमकर सराहना कर यह साफ किया कि वह पूरी तरह उनके साथ हैं। श्रीमती गांधी ने डा. सिंह के कामकाज की सराहना करते हुए कहा है कि हमारे पास एक ऐसा नेता हैं जिनका काम बोलता है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं के नाम अपने पत्र में कहा कि ऐसा कभी कभार ही होता है कि आपके पास ऐसा नेता हो जो लच्छेदार भाषणों की बजाय अपने काम के जरिए अपनी बात कहता है। श्रीमती गांधी का यह पत्र कांग्रेस संदेश के ताजा अंक में प्रकाशित हुआ है। कांग्रेस अध्यक्ष ने मनमोहन सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए कहा कि वह अपनी तथा पूरी पार्टी की ओर से बेहिचक डा. सिंह को इन सफलताओं के लिए बधाई देती हैं।ड्ढr ड्ढr श्रीमती गांधी ने डा. सिंह की ऐसे समय में सराहना की है जब वह परमाणु करार पर आगे बढ़ने की अपनी मंशा के कारण चौतरफा आलोचनाओं से घिरे हुए हैं। भाजपा की लगातार आलोचना झेल रहे डा. सिंह को अब वामदलों ने भी निशाना बनाना शुरू कर दिया है। सरकार को बाहर से समर्थन दे रही माकपा ंने मौजूदा राजनीतिक संकट के लिए प्रधानमंत्री को जिम्मेदार ठहराया है। श्रीमती गांधी ने कहा कि संप्रग सरकार जब सत्ता में आई थी तो उसके सामने धर्मनिरपेक्ष मूल्यों को फिर से कायम करना, खेती तथा उत्पादन क्षेत्र में वृद्धि की रफ्तार तेज करना, चौतरफा आर्थिक विकास के साथ-साथ शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र को बढ़ावा देना तथा सर्वाधिक गरीब और कमजोर वर्ग को अधिकार संपन्न बनाने की चुनौती थी। उन्होंने कहा कि सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर जारी रिपोर्ट कार्ड से साफ है कि उसने इन चुनौतियों से लड़ने में काफी हद तक सफलता प्राप्त की है। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों और गांवों की हालत सुधारने पर विशेष ध्यान दिया।ड्ढr ड्ढr सरकार ने आर्थिक प्रगति का लाभ गांवों और गरीबों तक पहुंचाने के लिए के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम शुरू किए। बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य के बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के प्रति सरकार कटिबद्ध है। हमने अल्पसंख्यकों और पिछड़े वर्गों की जरूरतों का पूरा ख्याल रखते हुए उनके विकास के लिए कई कार्यक्रम शुरू किए हैं। पेट्रोलियम पदार्थों में हाल में की गई वृद्धि के लिए सरकार का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि कच्चे तेल की कीमतों में अभूतपूर्व वृद्धि जब तक तेल कंपनियों के अस्तित्व के लिए खतरा नहीं बन गई तब तक कीमतें बढ़ाने से बचते रहे। इसके बाद भी हमने तेल की कीमतों में मामूली बढ़ोतरी की है। हमारे आह्वान पर कांग्रेस के मुख्यमंत्रियों ने राज्य के करों में संयोजन कर कीमत में बढ़ोतरी के बोझ को कम करने की व्यवस्था की है। श्रीमती गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से सरकार की उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाने का आह्वान किया। इसके लिए उन्होंने कार्यकर्ताओं से लोगों से सीधा संपर्क स्थापित करने को कहा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: मनमोहन कचचा कचचाम बोलता है : सोनिया