अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्राइन बोर्ड को भूमि नहीं

जम्मू-कश्मीर में श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) को वन भूमि हस्तांतरण से उपजे विवाद पर विराम लगाते राज्य सरकार ने श्राइन बार्ड का जमीन दन काफैसला रद्द कर दिया गया है। मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने रविवार को श्रीनगर मं आयाजित एक प्रस कॉफं्रस मं कहा कि राज्यपाल एन.एन वाहरा की सलाह पर राज्य सरकार न श्राइन बार्ड का जमीन दन का फैसला रद्द कर दिया है। इसक साथ ही मुख्यमंत्री न कहा कि अब दो माह तक चलने वाली अमरनाथ यात्रा की पूरी जिम्मदारी राज्य सरकर की हागी। ड्ढr ड्ढr उल्लेखनीय है कि अभी तक यात्रा के इंतजाम की जिम्मदारी अमरनाथ श्राइन बार्ड क पास थी लकिन अब यह जिम्मा राज्य सरकार का हागा। मुख्यमंत्री न बताया कि राज्यपाल न पीडीपी मंत्रियां क इस्तीफ स्वीकार कर लिए हैं। उन्हांन यह भी साफ किया कि सरकार क फैसल स श्राइन बार्ड भंग नहीं हागा। उधर पीडीपी न भूमि वापस लेने के राज्य सरकार क इस फैसल का स्वागत किया। पार्टी प्रमुख महबूबा मुफ्ती न फैसल पर संताष जतात हुए कहा कि पार्टी की जीत हुई है। लकिन हिंदूवादी संगठनां न सरकार क इस फैसल कड़ा विराध जताया है। 26 मई के आदेश के अनुसार तीर्थयात्रियों के ठहरने के लिए अस्थाई शिविर बनाने के उद्देश्य से भूमि हस्तांतरित की गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: श्राइन बोर्ड को भूमि नहीं