DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भूमिहीन महादलितों को घर के साथ टीवी भी

सूबे में अब कोई भी महादलित बेघर नहीं होगा। राज्य सरकार भूमिहीन महादलितों को न केवल जमीन देगी बल्कि उन्हें टेलीविजन सेट और ट्रांजिस्टर के साथ घर भी देगी। इस अभियान को अगले सप्ताह से शुरू करने की योजना है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार किसी उपयुक्त समय पर इस योजना की घोषणा करंगे। इस योजना को शुरू करने के लिए 28 जून को मुख्य सचिव आरोएम पिल्लै की अध्यक्षता में अधिकारियों की बैठक हुई।ड्ढr ड्ढr बैठक में इस अभियान की तैयारी पूरी कर लेने का निर्णय लिया गया। अनुसूचित जाति-ानजाति कल्याण विभाग के सूत्रों के अनुसार राज्य सरकार की योजना भूमिहीन महादलितों के लिए आवासीय कॉलोनी बनाने की है। इसमें एक परिवार को लगभग चार डिसमील जमीन मिलेगी।इस आवासीय कॉलोनी में स्कूल, अस्पताल और पार्क भी होंगे। सरकार की योजना है कि इस कॉलोनी में रहने वाले महादलित परिवारों को मध्यमवर्गीय परिवार की सुविधा मिले। देश-दुनिया की खबरें देने के लिए उन्हें संचार माध्यमों से जोड़ा जाएगा। विभागीय सूत्रों ने बताया कि राज्य में दलितों की कुल आबादी लगभग एक करोड़ 30 लाख है और इसमें 4लाख लोग महादलित हैं।ड्ढr ड्ढr अधिकतर महादलित भूमिहीन हैं। भूमिहीन होने के कारण कई महादलित जातियों को खानाबदोशों की तरह जीवन यापन करना पड़ता है। इसके कारण उन्हें शिक्षा और स्वास्थ्य जसी बुनियादी सुविधायें भी नहीं मिल पा रही हैं। सरकार का मानना है कि उन्हें आवास मिल जाने से उनकी कई समस्याओं का समाधान स्वयं हो जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भूमिहीन महादलितों को घर के साथ टीवी भी