अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाम दलों की ताकत से पार्टियां घबराईं

भाकपा माले के केंद्रीय कमेटी सदस्य रामजतन शर्मा ने कहा कि वामपंथियों के एकाुट से अन्य पार्टियां घबरा गई हैं। जहां अन्य पार्टियों में बिखराव है, वहीं भाकपा, माकपा व भाकपा माले ने एक मंच पर आने से वाम ताकतें और मजबूत हो गई हैं। इसका पूरा लाभ लोकसभा चुनाव में वाम दलों के प्रत्याशियों को मिलेगा। श्री शर्मा बुधवार को भाकपा, माकपा व माले के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित नागरिक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। पटना सहिब से वामपंथ प्रत्याशी श्री रामनारायण को विजयी बनाने के लिए और उत्साहित होकर लगने की अपील उन्होंने कार्यकर्ताओं से की। इस मौके पर माकपा के विजयकांत ठाकुर ने कहा कि एनडीए व यूपीए के नेता घबराहट में अनाब-सनाप बयान दे रहे हैं। जनता दोनों ही घटक दलों को पहचान गई हैं। वामपंथियों का जनाधार बढ़ रहा है। सम्मेलन को नाटय़कर्मी जावेद अख्तर, हसन इमाम, श्री अभ्युदय, बृजबिहारी पांडेय, सरो चौबे, प्रदीप झा, कुंदन सिंह आदि ने संबोधित किया।ड्ढr ड्ढr राबड़ी की विधायिकी छीने आयोग : जदयूड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। जदयू ने राबड़ी देवी की विधानसभा सदस्यता और मतदान का अधिकार छीनने की मांग की है। पार्टी का दावा है कि विपक्ष की नेता की दिमागी हालत ठीक नहीं है। तभी वह मुख्यमंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दे रही है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिवानन्द तिवारी ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर राबड़ी देवी का नाम मतदाता सूची से हटाये जाने का अनुरोध किया है। श्री तिवारी खुद शर्मसार हैं कि क्यों राबड़ी देवी की सरकार में मंत्री बने? अब वह 48 घंटे का उपवास रखकर अपनी गलती का प्रायश्चित करंगे। जदयू कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि मानसिक तौर पर कोई बीमार इंसान ही यह कहेगा कि बिहार के मुख्यमंत्री के सरकारी आवास में कालकोठरी है जहां अपहरण कराकर लोगों की हत्या की जाती है। इससे पहले राजद नेता रईस आजम, मुस्लिम एकता मंच के अध्यक्ष मो. अरशद मलिक, महापंचायत के अध्यक्ष जावेद मलिक और राष्ट्रीय दलित मुस्लिम सेना के महासचिव सलाम अंसारी जदयू में शामिल हुए। इस मौके पर पार्टी के महासचिव डॉ. नवीन कुमार आर्य और प्रवक्ता अनिल पाठक मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वाम दलों की ताकत से पार्टियां घबराईं