DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्व सुरक्षा पर चीन आवाज उठाए : कोंडालीजा

अमेरिकी विदेश मंत्री कोंडालीजा राईस ने चीन सरकार पर जिम्बाब्वे और उत्तर कोरिया के खिलाफ सख्त नीतियां अपनाने का दबाव डाला है। राइस ने चीन के राष्ट्रपति हू चिनताआे और प्रधानमंत्री वेन चियापावो से मुलाकात के बाद यहां की अपनी दो दिवसीय यात्रा के आखिरी दिन सोमवार को पत्रकारों से कहा कि जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति चुनाव में जिस तरह व्यापक धांधली के जरिए राबर्ट मुगाबे ने सत्ता हथियाई है उसकी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भर्त्सना होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश इसके लिए संयुक्त राष्ट्र से जिम्बाब्वे के खिलाफ प्रतिबंध की मांग करने वाले हैं। ऐसे में चीन को भी चाहिए कि वह इस मुहिम में उनका साथ दे। राइस ने कहा कि चीन और बड़े अफ्रीकी देश अभी तक इस बारे में खामोश बैठे हैं जबकि हकीकत यह है कि जिम्बाब्वे सिर्फ अफ्रीका से जुड़ा मुद्दा नहीं है बल्कि यह सुरक्षा परिषद में ले जाने वाला मुद्दा है। इस बीच उत्तर कोरिया के परमाणु मुद्दे और तिब्बतियों के अध्यात्मिक गुरू दलाई लामा से जल्द बातचीत करने के चीन के सहयोग पूर्ण रवैए की उन्होंने प्रशंसा भी की। लेकिन साथ ही मानवाधिकारों के उल्लंघन का मुद्दा उठाना भी नहीं चूकीं। उन्हांेने इस सिलसिले में तिब्बत में दमनकारी कार्रवाई पर भी चीनी नेताआें से व्यापक चर्चा का हवाला देते हुए उम्मीद जताई की दलाई लामा से प्रस्तावित बातचीत के दौरान इस समस्या का कोई सौहार्दपूर्ण हल निकलेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विश्व सुरक्षा पर चीन आवाज उठाए : कोंडालीजा