DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेलवे की समय सारिणी में जुड़ गया धरती का स्वर्ग

धरती का स्वर्ग कश्मीर पहली बार रेलवे की समय सारिणी में शामिल हो गया है और अब एक वर्ष के अंदर ही कश्मीर में रेल के सुहाने सफर का सपना साकार हो जाएगा। उत्तर रेलवे की एक जुलाई 2008 से 30 जून 200ी समय सारिणी में अंनतनाग से बरास्ता श्रीनगर-बड़गाम तक के 57 किलोमीटर के मार्ग पर प्रति दिन दो जोड़ी डीएमयू यात्री गाड़ियां चलाने का कार्यक्रम शामिल कर लिया गया है। नई समय सारिणी के मानचित्र में भी काकापुर-श्रीनगर-बड़गाम को भी ब्राडगेज की लाइन को दर्शाने वाली लाल रेखा से जोड़ दिया गया है। नई समय सारिणी में अभी इस मार्ग पर गाड़ी चलाने की तिथि नहीं दी गई है पर उत्तर रेलवे के प्रवक्ता ने सोमवार को नई समय सारिणी जारी करते हुए कहा कि यह मार्ग नई समय सारिणी में इस बार शामिल कर लिया गया है तो समझिए कि इस सारिणी वर्ष में वहां गाड़ी चलना निश्चित है। उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर को रेल मार्ग से जोड़ने की परियोजना को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा प्राप्त है और उस दुरूह भौगोलिक क्षेत्र में रेलमार्ग निर्माण कार्य को पूरा करने की अपनी चुनौतियां हैं। भारतीय रेल नेटवर्क की सेवाएं अभी, कश्मीर के उधमपुर तक ही है। घाटी की रेलवे लाइनों को शेष नेटवर्क से जुड़ने में अभी समय लगेगा।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रेलवे की समय सारिणी में जुड़ गया धरती का स्वर्ग