DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फाइनल बर्थ के लिए उतरेगा भारत

पूरे तीन दिन बैटरी रिचार्ज कर टीम इंडिया फिर तैयार है। एशिया कप में बुधवार को उसका मुकाबला चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से होना है। टीम इंडिया यह भी बखूबी जानती है कि इस जीत से उसका फाइनल का टिकट पक्का हो जाएगा। टूर्नामेंट में चार दिन में तीन मैच खेलने को लेकर भारतीय वनडे कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी नाखुश थे। टूर्नामेंट का टाइट शिडय़ूल उन्हें पसंद नहीं आया। पिछले मैच में बांग्लादेश को हराने के बाद धोनी ने कहा भी था, ‘यह काफी व्यस्त कार्यक्रम है। मैं शिडय़ूल से खुश नहीं हूं। दो टीमों को तो लगातार मैच खेलने पड़ रहे हैं जबकि अन्य दो टीमों को एक दिन का ऑफ मिला।’ अब तीन दिन का ब्रेक मिलने से टीम इंडिया राहत महसूस कर रही है। पाकिस्तान के खिलाफ कल के मैच में खिलाड़ी पूरी मुस्तैदी के साथ उतरने को तैयार हैं। पठान भी फिट हो गए हैं। भारतीय थिंक-टैंक कल के अहम मैच में उनको खिलाने का रिस्क शायद ही उठाए। भारत-पाकिस्तान के मैच के परिणाम के बारे में कयास लगाना खुद को असमंजस में डालने जसा है। हां, इतना जरूर है कि ग्रुप स्टेज में मेजबान पाकिस्तान को हराने के चलते भारत का पलड़ा भारी लग रहा है। भारतीय बैटिंग लाइन-अप, खासकर टॉप ऑर्डर टूर्नामेंट में पूरे शबाब पर है। टाइट शिडय़ूल बेशक उन पर थोड़ा हावी है लेकिन उनके बल्ले से रनों की बारिश जारी है। धोनी ने कहा, ‘मैदान पर थोड़ी मुश्किल जरूर हो रही है। लेकिन मुझे खुशी है कि हम अच्छा खेल रहे हैं। सुरेश रैना, गौतम गंभीर और विरेन्दर सहवाग ने टूर्नामेंट में वाकई अच्छी बैटिंग की है। मुझे उम्मीद है कि वे ऐसी ही बैटिंग आगे भी करते रहेंगे।’ भारत ने एशिया कप में अब तक अपने तीनों मैच बडे ही शानदार अंदाज में जीते हैं और वह यह सिलसिला कायम रखना चाहेगा। धोनी को अच्छी तरह पता है कि थोडी-सी भी लापरवाही दिखाने पर पाकिस्तान पलटवार कर सकता है। आखिर गत महीने बांग्लादेश त्रिकोणीय टूर्नामेंट के फाइनल में उन्हें इस दंश का बखूबी अंदाजा हो चुका है। पाकिस्तान से खेलने के बाद अगले ही भारत को श्रीलंका से खेलना है। यानी फिर भारत को लगातार दो मैच खेलने होंगे।धोनी के धुरंधरों ने मुश्किल से मिले तीन दिन के विश्राम का भरपूर उपयोग किया। खुद धोनी भी अपने कुछ साथियों के साथ शूटिंग रेंज पर निशाना साधने और मनोरंजन पार्क घूमने निकल पड़े थे। भारत पाकिस्तानी टीम के बीच मतभेद की आ रही खबरों का फायदा उठाने की पूरी कोशिश करेगा। भारत का बॉलिंग और फील्डिंग डिपार्टमेंट उतने मजबूत नजर नहीं आ रहे जितना कि बैटिंग। स्पिनर पीयूष चावला और प्रज्ञान ओझा को छोड़ कोई भी भारतीय गेंदबाज असर डालने में नाकाम रहा है। दूसरी तरफ पाकिस्तान लगातार दो मैच गंवाने से सकते में है लेकिन वह भारत के खिलाफ वापसी कर सकता है। विपक्षी टीम के रूप में भारत की मौजूदगी ही पाकिस्तान को प्रेरित करने के लिए काफी है। वह इस मैच के लिए अपनी टीम में कुछ बदलाव भी कर सकता है। दोनों टीमों का यह मुकाबला काफी दिलचस्प रहने की संभावना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फाइनल बर्थ के लिए उतरेगा भारत