DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व युवराज पारस ने छोड़ दिया नेपाल!

नेपाल में गणतंत्र घोषित होने के करीब एक माह बाद मंगलवार को पूर्व युवराज पारस काठमांडू से विमान पकड़कर बैंकाक रवाना हो गए। पारस ऐसे समय विदेश रवाना हुए हैं जबकि लगातार इस बात की अटकलें लगाई जा रही हैं कि ताज छिनने के बाद शाही परिवार नेपाल छोड़ जाने की तैयारी कर रहा है। नेपाल में गणतंत्र घोषित होने के करीब एक माह बाद मंगलवार को पूर्व युवराज पारस काठमांडू से विमान पकड़कर बैंकाक रवाना हो गए। पारस ऐसे समय विदेश रवाना हुए हैं जबकि लगातार इस बात की अटकलें लगाई जा रही हैं कि ताज छिनने के बाद शाही परिवार नेपाल छोड़ जाने की तैयारी कर रहा है। नेपाल में गणतंत्र घोषित होने के करीब एक माह बाद मंगलवार को पूर्व युवराज पारस काठमांडू से विमान पकड़कर बैंकाक रवाना हो गए। पारस ऐसे समय विदेश रवाना हुए हैं जबकि लगातार इस बात की अटकलें लगाई जा रही हैं कि ताज छिनने के बाद शाही परिवार नेपाल छोड़ जाने की तैयारी कर रहा है। काठमांडू स्थित त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि पूर्व युवराज पारस ने यहां से बैंकाक रवाना होने के लिए थाई एयरवेज की उड़ान (संख्या टीाी-320) पड़ी। काठमांडू से इस विमान ने स्थानीय समय के अनुसार दोपहर एक बजकर 50 मिनट पर उड़ान भरी। पारस ने एयरपोर्ट पर मौजूद मीडिया कर्मियों से कोई बात नहीं की। हालांकि त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट के आव्रजन अधिकारी इस बार में कोई ठोस जानकारी नहीं दे सके कि पारस अंतत: कहां जाने वाले हैं। गौरतलब है कि इससे पहले ही काठमांडू के क्षेत्रीय अखबारों ने इस आशय की खबरं प्रकाशित की थीं कि पारस देश छोड़ने वाले हैं। मीडिया रिपोर्टों में यह भी कहा गया था कि पारस अब सिंगापुर को अपना ठिकाना बनाना चाहते हैं। शाही परिवार के सदस्यों द्वारा पारस की दक्षिण-पूर्व एशिया यात्रा पर अपनी जुबान बंद करने से इस बार में रहस्य गहरा गया है। वैसे मीडिया में ऐसी अटकलें भी लगाई जा रही हैं कि पूर्व युवराज अपने तीन बच्चों को पढ़ाई के लिए सिंगापुर भेजने की तैयारी में लगे हैं। दूसरी तरफ, पारस के पिता नेपाल में शाह वंश के अंतिम राजा ज्ञानेंद्र ने कहा है कि उनका नेपाल छोड़कर जाने का कोई इरादा नहीं है। वह आम आदमी की तरह नेपाल में ही रहेंगे और अपना व्यापार संभालेंगे। रिपोर्टों में कहा गया है कि अपने व्यवहार के कारण जनता की आंखों की किरकिरी बने रहे पारस नेपाल के गणतांत्रिक देश बनने को पचा नहीं पा रहे हैं और विदेश में बसना चाहते हैं।ड्ढr मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक पारस की दोनों बेटियां और बेटा भी दो हफ्ते बाद उनके पास चले जाएंगे। पूर्व शाही परिवार से जुड़े सूत्रों के मुताबिक पारस न्यूजीलैंड और दक्षिण कोरिया की यात्रा भी करने वाले हैं। सूत्रों के मुताबिक पारस के परिवार का कुछ व्यापार सियोल में भी है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पूर्व युवराज पारस ने छोड़ दिया नेपाल!