अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थाईलैंड सरकार ने शिनावात्रा का पासपोर्ट रद्द किया

थाईलैंड सरकार ने देश से निष्कासित पूर्व प्रधानमंत्री थाकसिन शिनावात्रा को हाल ही में हुए विपक्षी प्रदर्शन के लिए आंदोलनकारियों को उकसाने के आरोप में उनका पासपोर्ट रद्द कर दिया है। जबकि शिनावात्रा ने थाईलैंड नरेश से मदद की अपील करते हुए सरकार के साथ राजनीतिक टकराव समाप्त करवाने का अनुरोध किया है। थाईलैंड में देशव्यापी विरोध प्रदर्शन के कारण सरकार को गत 12 अप्रैल को आयोजित एशिया सम्मेलन को शुरू होने के ठीक पहले स्थगित करना पड़ा था। सरकार के प्रवक्ता पानितन वतन्यागोर्न ने बुधवार को बताया कि विदेश मंत्रालय ने शिनावात्रा का पासपोर्ट रद्द कर दिया हे आेर यह आदेश 12 अप्रैल से ही प्रभावी होगा। वतन्यागोर्न ने बताया कि सरकार को ऐसे किसी भी व्यक्ित का पासपोर्ट रद्द करने का अधिकार है जिसने देश को नुकसान पंहुचाया हो। उन्होंने कहा कि शिनावात्रा के उकसाने पर ही प्रदर्शनकारी इतने उग्र हो गए कि सरकार को पट्टाया में शुरु होने वाले एशिया सम्मेलन को रद्द करना पड़ा और यह देश के लिए बड़ी क्षति है। इसी बीच पेरिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार शिनावात्रा के अनुसार शिनावात्रा ने नरेश बूमिबोल अदुलयादेज से सरकार के साथ सुलह करवाकर देश में शंति कायम करने में अपनी मदद देने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि अदुलयादेज को हस्तक्षेप कर शािंत की पहल करना चाहिए। ज्ञातव्य है कि वर्ष 2006 में शिनावात्रा की सरकार का तख्तापलट कर दिया गया था और तभी से वह स्वनिष्कासन में फ्रांस में रह रहे हैं। इस आंदोलन को उकसाने के आरोप में अदालत की आेर से मंगलवार को उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट भी जारी किया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: थाईलैंड सरकार ने शिनावात्रा का पासपोर्ट रद्द किया