DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दारू के ठेके पर बरसीं महिलाएँ

आदमी तो बर्बाद हो गए..पर, अब बच्चों को शराबी नहीं बनने देंगे। ..बहुत बर्दाश्त कर चुके हम लोग.अब या तो ठेका रहेगा या फिर हम लोग..। मंगलवार की दोपहर विकासनगर के गारहापुरवा की महिलाएँ यही शोर मचाते हुए अपने घरों से निकल पड़ीं। हाथों में चिमटा, बेलन, डण्डा, पत्थर और चेहरा गुस्से से लाल। इन महिलाओं का निशाना था शराब का वह ठेकाोो मंगलवार को ही इलाहाबाद बैंक के सामने खुला था। ठेके पर मौाूद लोग कुछ समझते, इससे पहले महिलाएँ दुकान में घुस गईं और शराब की बोतलों को तोड़ना शुरू कर दिया और कर्मचारियों की भी धुनाई की।ड्ढr शराब से होने वाली बर्बादी को बहुत करीब से देखने वाली इन गरीब महिलाओं कीोब प्रशासन ने कोई मदद नहीं की तो उन्होंने ही ठेका बंद कराने की ठान ली। महिलाओं का उग्र रूप देखकर कर्मचारी दुकान का शटर गिराकर भाग खड़े हुए पर महिलाओं का गुस्सा शान्त नहीं हुआ और उन्होंने शटर पर पत्थर चलाए। शराब दुकानदार को चेतावनी भी दी कि अब इधर का रुख किया तो अच्छा नहीं होगा। आशा ने बताया कि पहले यह ठेका सेक्टर छह में महावीर ट्रेडर्स के पास खुला था। वहाँ हर समय अपराधी प्रवृत्ति के लोगों काोमावाड़ा रहता था। मोहल्ले के अधिकतर लोग शराब के चक्कर में बर्बाद हो रहे थे। मंगलवार को यह ठेका ौसे ही यहाँ खुला, मोहल्ले के आदमी सुबह से ही शराब पीने लगे।ड्ढr प्रदर्शन करने के बाद गुस्साई महिलाएँ विकास नगर थाने की तरफ कूच कर गई। इस समय उनके साथ तारा चन्द्र गौतम, आय कश्यप, गुरु प्रसाद, अशोक,ोगपाल, शंकरपाल समेत कई और लोग शामिल हो चुके थे।ड्ढr विकास नगर पुलिस ने उनसे प्रार्थना पत्र लेकर उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है। इन लोगों ने एक प्रार्थना पत्रोिलाधिकारी के यहाँ भी दिया है। आसपास आलीशान मकान में रहने वाले भी इन महिलाओं का इरादा तबोान सके,ोब महिलाओं ने नारी शक्ित का प्रदर्शन करते हुए ठेकेदार को ललकार दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दारू के ठेके पर बरसीं महिलाएँ