DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माकपा ने चेताया चाी-8 बैठक में न चााएँ पीएम

नई दिल्ली। करार पर मंगलवार को भी तकरार तेज रही। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील से इस बार में लंबी चर्चा की। माकपा ने एक कदम आगे बढ़कर चेतावनी दे डाली कि अगर प्रधानमंत्रीोी-8 देशों की बैठक में शामिल होनेोापानोाते हैं तो यह तय माना जाएगा कि सरकार करार की ओर बढ़ रही है। एसे में चारोुलाई को वाम दल समर्थन वापसी के बार में फैसला कर लेंगे। यह बयान जारी करने से पहले माकपा महासचिव प्रकाश करात की सपा महासचिव अमर सिंह की मुलाकात हुई थी। हालाँकि सपा, राष्ट्रीय लोकदल और शिवसेना ने इस तकरार में संप्रग को काफी राहत पहुँचाई है। सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने कहा कि उनके लिए कोई पार्टी न दुश्मन है और न ही अछूत। रल मंत्री लालू यादव ने भी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद दावा किया कि 3सांसदों वाली सपा संप्रग का साथ देगी। दूसरी तरफ शिवसेना के सांसद सांय राउत ने कहा कि पार्टी सुप्रीमो बाल ठाकर राानीतिक गतिरोध को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएँगे। मंगलवार सुबह मुलायम दिल्ली पहुँचे तो उनसे बातचीत के बाद अमर सिंह सीधे माकपा मुख्यालयोाकर प्रकाश करात से मिले। एटमी करार पर मायावती ने भी सपा पर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए निशाना साधा। उन्होंने लखनऊ में कहा कि करार से मुसलमान नाराा हैं। सपा ने इस पर यह तीर छोड़ा कि भाापा और बसपा मिलकर धर्मनिरपेक्षता के लिए बड़ा खतरा हैं।ड्ढr नया फामरूला: राजनीतिक हलके में चर्चा है कि बीच का रास्ता निकालते हुए एक फामरूला तैयार किया जा रहा है। इसके तहत समाजवादी पार्टी संसद में शक्ित परीक्षण के समय सरकार को बचाएगी लेकिन भारत-अमेरिका परमाणु करार का समर्थन नहीं करगी। सूत्रों का कहना है कि सपा व वाम दलों की दोस्ती काफी पुरानी है। इसलिए सपा परमाणु करार को समर्थन देने के सवाल पर दुविधा में है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: माकपा ने चेताया चाी-8 बैठक में न चााएँ पीएम