DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महादलित विकास मिशन पर कार्रवाई शुरू

महादलित विकास मिशन को लेकर सरकार ने कार्रवाई शुरू कर दी है। इसके तहत महादलित बहुल इलाकों में सामुदायिक भवन बनाए जा रहे हैं और हर पांच सौ की आबादी पर एक विकास मित्र की तैनाती की जा रही है। ये विकास मित्र महादलितों को विकास योजनाओं के लिए जागरूक करंगे। योजना का पूरा लाभ महादलितों तक पहुंचाने के लिए हर जिले में एक कल्याण अधिकारी की प्रतिनियुक्ित की गई है।ड्ढr ड्ढr इसके साथ ही हर जिले में महादलितों की संख्या और उनकी स्थिति के संबंध में आंकड़े जुटाये जा रहे हैं। जिन इलाकों में महादलितों की संख्या ज्यादा होगी और जहां उनकी हालत ज्यादा खराब होगी वहां विकास योजनाएं ज्यादा सघन रूप से चलाई जाएंगी। अनुसूचित जाति-ानजाति कल्याण विभाग के मुख्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य में महादलितों में सबसे ज्यादा संख्या मुसहर और पासी जाति के लोगों की है। मुसहर जाति की आबादी 21 लाख 12 हाार 136 है जबकि पासी जाति के लोगों की संख्या 7 लाख 11 हाार 37है। सबसे कम संख्या घासी जाति के लोगों की है। राज्य में उनकी आबादी मात्र 674 है। जिलों के लिहाज से सबसे ज्यादा महादलित गया जिले में हैं। यहां इनकी संख्या 6 लाख 64 हाार 520 है। इसके बाद नवादा, पटना और पूर्णिया आदि का क्रम है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महादलित विकास मिशन पर कार्रवाई शुरू